Homeमनोरंजन50 Days of Uunchai: 50 दिन बाद भी सिनेमाघरों में टिकी 'ऊंचाई',...

50 Days of Uunchai: 50 दिन बाद भी सिनेमाघरों में टिकी ‘ऊंचाई’, जानें स्क्रीन काउंट और कलेक्शन

निर्देशक सूरज बड़जात्या अपनी फैमिली एंटरटेनर फिल्मों के लिए जाने जाते हैं। अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan), अनुपम खेर (Anupam Kher), बोमन ईरानी (Boman Irani), सारिका (Sarika) और नीना गुप्ता (Neena Gupta) स्टारर फिल्म ऊंचाई (Uunchai) को रिलीज हुए 50 दिन हो गए हैं। फिल्म को क्रिटिक्स ने पसंद किया था और फिल्म अब भी थिएटर्स में लगी है।  

50 दिन हुए पूरे
सूरज बड़जात्या की फिल्म ऊंचाई 11 नवंबर को थिएटर्स में रिलीज हुई थी।  जीवन को एक अलग नजरिए से जीने की चाहत और दोस्ती के लिए कुछ कर गुजरने की पागलपंती ,दर्शकों को पसंद आई और यही वजह है कि फिल्म 50 दिनों के बाद भी थिएटर्स में टिकी है। ऊंचाई बड़ी ही सफलता से थिएटर में 50 दिन पूरा कर चुकी हैं और हाफ सेंचुरी पूरे करने की खुशी में राजश्री ने, बड़ा ही प्यारा एक आर्ट पोस्टर रिलीज किया हैं,जिसमें हर चेहरों पर इसकी खुशी देखी जा सकती हैं।

141 स्क्रीन्स में टिकी फिल्म
लिमिटेड स्क्रीन काउंट होने के बावजूद, हर शुक्रवार नई फिल्मों के रिलीज होने के इस मेले में, फ़िल्म ऊंचाई,अपने कंटेंट की वजह से अभी तक 141 स्क्रीन्स में बिना रुके, चल रही है। हांलकि अब ज्यादातर ऐसा देखा गया हैं कि फिल्में ज्यादा दिनों तक सिनेमाघरों में टिक नही पाती ,एक या दो हफ़्तों में ही उतर जाती हैं।  लेकिन ऊंचाई ने पुराने दिनों की याद दिला दी हैं जब एक वक़्त था जहाँ थिएटर में महीनों तक फिल्में दर्शको को लुभाती थी। बता दें कि फिल्म का कलेक्शन करीब 35 करोड़ रुपये हो गया है।

क्या है कहानी
बता दें कि उंचाई’ राजश्री प्रोडक्शंस की अब तक की सबसे महत्वाकांक्षी फिल्म है।  वरिष्ठ स्टार कास्ट के साथ समुद्र तल से 17000 से अधिक फीट की ऊंचाई पर शूट किया गया। ‘ऊंचाई’ सूरज आर बड़जात्या द्वारा निर्देशित और महावीर जैन फिल्म्स और बाउंडलेस मीडिया के सहयोग से राजश्री प्रोडक्शंस द्वारा निर्मित है। अनुभवी अभिनेताओं, अनुभवी निर्देशक, एक प्रतिष्ठित प्रोडक्शन हाउस द्वारा निर्मित, यह एक ऐसी फिल्म है जिसकी मूल कहानी दोस्ती है।  तो इंतेजार किस बात का, राजश्री के इस सफर को अपने प्यार से बनाये और सफल,अपने परिवारवालों और दोस्तों के साथ जाकर इस फ़िल्म को बनाये यादगार जिससे सिनेमाघरों में ऊंचाई का पारा बस बढ़ते ही रहे।

 

Most Popular