सृजन घोटाला: पूर्व ब्रांच मैनेजर समेत दो की जमानत खारिज

after 3 years of cbi investigation in notorious srijan scam of bihar no any recovery and no main acc

सीबीआई के विशेष न्यायाधीश ने गुरुवार को सृजन घोटाला मामले के आरोपित व इंडियन बैंक की भागलपुर शाखा के पूर्व ब्रांच मैनेजर प्रवीण कुमार और पूर्व लिपिक रामकृष्ण झा की नियमित जमानत अर्जी पर सुनवाई के बाद खारिज कर दी।

आरोपित प्रवीण कुमार पर आरोप है कि उन्होंने बैंक में वरीय पदाधिकारी होने का लाभ उठाते हुए पद का दुरुपयोग किया। नव नियुक्त कर्मचारियों से गलत तरीके से सरकारी रुपये को सृजन महिला विकास समिति के बैंक खाते में ट्रांसफर करवाया।

उनपर यह भी आरोप है कि 12 भुगतान आदेश जो डीसी के नाम से निर्गत था उसे सृजन के खाते में 4.58 करोड़ रुपये ट्रांसफर करवाया था। फिर सृजन के खाते से डीडीसी को वापस डाला था। वहीं, आरोपित रामकृष्ण झा का घोटाला के किंगपिंग मनोरमा देवी से संपर्क था। वह मनोरमा देवी के घर बराबर जाता था और उसके बैंक वाउचर्स को भरता था। घोटाले के इस मामले में सीबीआई आरोपितों पर चार्जशीट कर चुकी है।