Home बिहार सुपौल में मंत्री के काफिले से कुचल कर बच्ची की मौत, आक्रोशित...

सुपौल में मंत्री के काफिले से कुचल कर बच्ची की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया हंगामा

बिहार के सुपौल जिले के भपटियाही थाना क्षेत्र के पूर्वी कोसी तटबंध पर नोनपार गांव के पास गुरुवार को वाहन की ठोकर से एक बच्ची की मौत हो गई। ग्रामीणों के अनुसार ठोकर मारने वाला वाहन वीरपुर जा रहे जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा के काफिले में शामिल था। हादसे के बाद सारे वाहन तो निकल गए लेकिन घटना स्थल से कुछ दूर कोढ़ली गांव के पास ग्रामीणों ने काफिले में शामिल चार वाहनों को घेर लिया। इसमें जल संसाधन विभाग, प्रशासन और जदयू के एक पदाधिकारी के वाहन शामिल हैं। गुस्साए ग्रामीणों ने सीमा सड़क को भी नोनपार के पास जाम कर दिया। 

नोनपार निवासी प्रदीप साह की बेटी अंशु कुमारी (8) अपनी दादी कुसमी देवी के साथ सड़क किनारे खेल रही थी। दोपहर लगभग तीन बजे डेढ़ दर्जन वाहनों के साथ तेज रफ्तार से जल संसाधन मंत्री का काफिला उधर से गुजरा। इसी काफिले में शामिल किसी वाहन से बच्ची को ठोकर लग गई। बच्ची की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। 

दुर्घटना के बाद मंत्री सहित अन्य अधिकारियों के बिना रूके चले जाने पर ग्रामीणों का गुस्सा भड़क उठा और उन्होंने सड़क जाम कर दिया। जाम और वाहनों को रोक कर रखे जाने की सूचना पर वीरपुर से एसडीएम कुमार सत्येन्द्र यादव और एएसपी रामानंद कुमार कौशल कई थानों की पुलिस के साथ पहुंचे। अधिकारियों ने ग्रामीणों को वाहनों को छोड़ने के लिए काफी समझाया। केस हो जाने की चेतावनी भी दी लेकिन ग्रामीण मंत्री को घटना स्थल पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे। 

उधर, जल संसाधन मंत्री संजय कुमर झा ने बताया कि जैसे ही दुर्घटना की जानकारी हुई उन्होंने प्रशासन और पुलिस के साथ-साथ विभाग के अधिकारियों को पीड़ित परिवार को हर संभव मदद करने का निर्देश दिया है। 

ढाई घंटे बाद समाप्त हुआ सड़क जाम
हादसे के विरोध में नोनपार के पास लगाया गया सड़क जाम लगभग ढाई घंटे बाद समाप्त हुआ। एसडीएम ने बताया कि फिलहाल मृतक के परिजन को 20 हजार रुपया प्रशासन की ओर से और सवा लाख रुपये जल संसाधन विभाग की ओर से दिया जा रहा है। इसके अलावा आपदा के तहत मृतक के परिजन को चार लाख रुपये सहित अन्य लाभ दिया जाएगा। एसडीएम ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि किस वाहन से ठोकर लगी है। वाहन का पता लगाया जा रहा है।

Most Popular