सुपौल में नवजात बेटी को रेलवे ट्रैक किनारे फेंक भाग गई बेरहम मां, देखते-देखते मासूम ने दम तोड़ा

child death  symbolic image

सच ही कहा गया है कि महिलाएं ही महिलाओं की दुश्मन होती हैं। अब वजह या मजबूरी चाहे जो भी रही हो एक पत्थर दिल मां ने अपनी ही नवजात बेटी को कपड़े में लिपटाकर कर झाड़ी में फेंक दिया। सदर थाना क्षेत्र के दक्षिणी रेलवे ढाला के पास रेलवे ट्रैक के किनारे की है। बुधवार की सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले लोगों की नजर भिनभिना रहे मक्खी पर पड़ी।

शंका होने पर कुछ लोग जब उस जगह पहुंचे तो वहां कपड़े में लिपटी नवजात बच्ची मिली। पास जाकर देखा तो वह वह जिंदा थी। लोगों ने आशंका जतायी कि बच्ची का जन्म रात में हुआ होगा और बेटी पैदा होने पर यहां फेंक दिया गया। वहां मौजूद कुछ महिलाएं उस मां को भी जमकर कोस रही थी जिसने अपनी कोख से जन्मी इस नवजात बच्ची को झाड़ियों में फेंक दिया। 

इस बीच सदर अस्पताल के एचआईवी डिपार्टमेंट में कार्यरत बंधुनाथ झा को घटना की जानकारी दी। सूचना पर श्री झा भागे-भागे वहां पहुंचे। नवजात की जांच किए तबतक उसकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी। सूचना पर सदर थाना पुलिस नवजात बच्ची के शव को दफनाने के लिए अशोक मरीक को बुलाया और फिर उसे दफना दिया गया।