सीनियर डिप्टी कलेक्टर समेत तीन घरों में लाखों की चोरी, विरोध करने पर गार्ड का सिर फोड़ा, डराने को पिस्टल दिखाई

theft  in patna  theft incident in patna  patna crime news  patna police  patna breaking news  patna

सीवान के सीनियर डिप्टी कलेक्टर सहित चार के घरों से चोरों ने लाखों की संपत्ति उड़ा ली। घटना राजीवनगर थाना क्षेत्र के अलग-अलग इलाकों में हुई। हालांकि एनटीपीसी बिहार फेज टू जी-404 में घटना को अंजाम देने के दौरान चोरों को गार्ड रवींद्र कुमार ने देख लिया। यह एनटीपीसी के रिटायर एडिशनल जेनरल मैनेजर मेंहदी रजा का फ्लैट है। 

गार्ड के हल्ला करने पर चोरों ने उसका सिर फोड़ डाला, फिर पिस्टल दिखाकर उसे चुप कराने की कोशिश की। इसी बीच चोर भागकर एक निर्माणाधीन अपार्टमेंट में घुस गए। इधर, शोरशराबा सुनकर स्थानीय लोगों ने पुलिस को खबर की। इस पर राजीवनगर थानेदार निशांत कुमार सिंह दल-बल के साथ पहुंचे और अपराधियों की घेराबंदी की। दो सितंबर की देर रात दो घंटे तक पुलिस और चोरों के बीच लुका-छिपी का खेल चला। एक चोर पानी में कूद गया और पिस्टल भी वहीं फेंक दी। बाद में पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। 

सीवान में पदस्थापित वरीय उप स्माहर्ता के घर चोरी 
चोरों ने सीवान में पदस्थापित वरीय उप समाहर्ता संजय कुमार के मौर्य पथ स्थित गोस्वामी इनक्लेव के फ्लैट नंबर 201 में चोरी कर ली। अधिकारी अपने पूरे परिवार के साथ सीवान में ही रहते हैं। दो सितंबर को उनके अपार्टमेंट के गार्ड मेंहीलाल ने फोन पर उन्हें चोरी होने की खबर दी। जब वे मौके पर पहुंचे तो फ्लैट का ताला गायब देखा। लकड़ी के गेट की कुंडी भी कटी हुई थी। यहां से चोर लाखों के जेवरात सहित अन्य सामान ले गए हैं। 

दंपती के घर से जेवरात ले गये चोर
एक दंपती के घर से चोर जेवरात ले गए। दरअसल, नीरज कुमार और उनकी पत्नी आनंद भवन रोड नंबर छह में जनार्दन सिंह के मकान में बतौर किरायेदार रहते हैं। निचले तल्ले में नीरज का कमरा है। एक सितंबर की सुबह दंपती काम पर निकले। शाम छह बजे वापस आने पर उन्होंने घर का ताला टूटा देखा। अंदर जाने पर सारा सामान बिखरा पड़ा था और जेवरात गायब थे। 

ताला तोड़कर जेवर व नकद उड़ा लिये 
चोरों ने आजाद इनक्लेव सी-102 में रहने वाले आशीष तिवारी के फ्लैट से नकदी और जेवरात चुरा लिए। जिस वक्त घटना हुई, उस समय एक निजी कंपनी में काम करने वाले आशीष उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित अपने पैतृक घर गए थे। उनके पड़ोसी ने उन्हें चोरी हो जाने की सूचना दी। सीसीटीवी फुटेज की पड़ताल करने पर तीन चोर घटना को अंजाम देते दिखे। एक सितंबर की रात को चोरी करने के बाद वे आराम से निकल गए। डेढ़ लाख के जेवरात व 20 हजार रुपये की चोरी की गई। 

सामान छोड़कर भागे चोर 
एनटीपीसी के रिटायर एडिशनल जेनरल मैनेजर मेंहदी रजा के यहां चोरी होने से बच गयी। चोर उनके अलमारी में रखे जेवरात को एक बैग में समेट चुके थे, लेकिन तभी हल्ला हो गया। लिहाजा चोरों ने जेवरात वहीं पर छोड़ दिया और भाग निकले। उन्होंने बताया कि उनकी मां का देहांत हो गया था। इस कारण वे मुजफ्फरपुर गये हुए थे। घर खाली था। 

गार्ड की सूझबूझ से पकड़े गये चोर 
जिन तीन चोरों को पुलिस ने पकड़ा है, उसी गैंग ने एक सितंबर की रात को राजीवनगर थाना इलाके में उत्पात मचा रखा था। गार्ड की सूझबूझ से यह गैंग पकड़ा गया। जान की परवाह किए बगैर ही गार्ड ने चोरों को देखकर हल्ला करना शुरू किया, जिसके बाद वे पकड़े गए। अगर यह गैंग पुलिस की पकड़ में नहीं आता तो राजीवनगर, दीघा, शास्त्रीनगर सहित कई इलाकों में चोरी की घटनाएं होतीं।