Home झारखंड शिक्षक दिवस पर ऐलान: शिक्षक अपने गृह जिले में ही पदस्थापित होंगे...

शिक्षक दिवस पर ऐलान: शिक्षक अपने गृह जिले में ही पदस्थापित होंगे – शिक्षा मंत्री

शिक्षक दिवस पर शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने ऐलान किया है कि शिक्षकों को अपने गृह जिला में ही पदस्थापित करने का मौका देंगे। इससे गृह जिला में रहकर अब अपने प्रखंड के सरकारी स्कूलों के छात्र व छात्राओं को बेहतर शिक्षा दे सकेंगे। 

बोकारो के सर्किट हाउस में शनिवार को आयोजित प्रेस वार्ता में शिक्षा मंत्री ने यह जानकारी दी। कहा कि अगर पति व पत्नी दोनों अलग-अलग जिलों के स्कूलों में कार्यरत हैं तो उन्हें भी इसका लाभ दिया जाएगा। दिव्यांग शिक्षक भी इसमें शामिल हैं। उन्होंने कहा कि बिनोद बिहारी महतो की जयंती पर जैक बोर्ड की मैट्रिक व इंटरमीडिएट परीक्षा के स्टेट टॉपर छात्र व छात्राओं को एक-एक अल्टो कार देकर सम्मानित करेंगे। वहीं, उसी दिन भंडारीदह में मैट्रिक व इंटरमीडिएट परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले सभी 300 छात्र व छात्राओं को एक- एक साइकिल दी जाएगी। संस्कृत शिक्षकों की समस्या के बारे में उन्होंने कहा कि बकाया राशि को रिलीज कर दिया गया है। राज्य में शिक्षकों के प्रमोशन की समस्या का समाधान भी कर लिया गया है। इसका रिज्ल्ट भी अच्छा है।

शिक्षा मंत्री ने पारा टीचरों के स्थायीकरण के मामले में कहा कि इसको लेकर फाइल बढ़ा दी गई है। पारा टीचरों के नियमित वेतन भुगतान को लेकर उन्होंने कहा कि इसे भी जल्द दूर कर लिया जाएगा। चंदनकियारी में इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने के बारे में कहा कि यह विधायक अमर बाउरी की हवा हवाई वाली बात है। चंदनकियारी में इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने के बारे में अगर पूर्व में कोई प्रस्ताव है तो उसे दिखा दें तो विभाग कार्रवाई शुरू कर देगा। लेकिन, अमर बाउरी मंत्री काल में जब पांच वर्ष में इंजीनियरिंग कॉलेज नहीं खुलवा सके तो अब इसको लेकर राजनीति कर रहे हैं। बांसगोड़ा के जेएमएम नेता खड़ी राम मुर्मू की सड़क दुर्घटना में निधन पर उन्होंने दु:ख जताया। 

Most Popular