राज्‍यसभा में कल का दिन रहा ऐतिहासिक, साढ़े तीन घंटे में रिकॉर्ड 7 बिल पास

नई दिल्‍ली. संसद के मॉनसून सत्र (Parliament monsoon session) के दौरान 22 सितंबर राज्‍यसभा (Rajya sabha) को सबसे लाभदायक दिन रहा. मंगलवार को राज्‍यसभा में रिकॉर्ड 3.30 घंटे में 7 विधेयकों को पारित किया गया है. यह संख्‍या पहले से अधिक है. पास किए गए इन विधेयकों में अनाज, दाल, तिलहन, खाद्य तेल, आलू और प्याज को आवश्यक वस्तु की सूची से हटाने संबंधी बिल भी शामिल है. हालांकि आठ सदस्यों के निलंबन के कारण अधिकांश विपक्षी सांसदों ने कार्यवाही का बहिष्कार किया. इसी समय में यह बिल पास किए गए. लोकसभा में ये पहले ही पास हो चुके हैं.

राज्‍यसभा में इन विधेयकों पर चर्चा में केवल बीजेपी, जदयू, अन्नाद्रमुक, बीजू जनता दल, वाईएसआर कांग्रेस और टीडीपी ने हिस्‍सा लिया. अधिकांश बिल पर सदस्यों की भागीदारी काफी कम रही. हालांकि विधेयकों को पास कराने के लिए राज्यसभा की कार्यवाही का समय एक घंटा बढ़ाया गया.

राज्‍यसभा में पास हुए 7 विधेयक

1. भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान विधि (संशोधन) बिल-2020.2. आवश्यक वस्तु (संशोधन) बिल-2020.

3. बैंक नियमन (संशोधन) बिल-2020.

4. कंपनी संशोधन विधेयक-2020 भी पास हुआ.

5. नेशनल फोरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी बिल-2020

6. राष्ट्रीय रक्षा यूनिवर्सिटी बिल-2020.

7. कराधान एवं अन्य कानून (निश्चित प्रावधानों में रियायत एवं संशोधन) बिल-2020.


अनिश्चिकाल के लिए स्‍थगित हो सकती है राज्‍यसभा

संसद का मॉनसून सत्र कोरोना वायरस प्रकोप को लेकर चिंताओं के बीच निर्धारित समय से आठ दिन पहले बुधवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया जा सकता है. सूत्रों ने यह जानकारी दी. सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि राज्यसभा की कार्यवाही बुधवार को पांच विधेयकों को लेने के बाद अनिश्चितकाल के लिए स्थगित की जा सकती है. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि निचले सदन की बैठक बुधवार को अपराह्न तीन बजे की जगह शाम छह बजे शुरू होगी.