यह भी जानें: सबसे बड़ी पार्टी बनकर जनता दल उभरा, लालू बने मुख्यमंत्री

bihar assembly elections  bihar elections  bihar assembly elections 1990  lalu prasad yadav  janata

वर्ष 1990 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में कुल 324 में से 122 सीटें लाकर जनता दल सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरा। विभिन्न पार्टियों को जोड़कर अक्टूबर 1988 में गठित जनता दल ने वर्ष 1990 के चुनाव में बेहतर प्रदर्शन किया और गठबंधन की सरकार बानी। लालू प्रसाद बिहार के मुख्यमंत्री बने। विधायक दल का नेता कौन होगा, इसको लेकर लालू प्रसाद और पूर्व मुख्यमंत्री रामसुंदर दास के बीच कड़ी टक्कर हुई। र्वोंटग के जरिये लालू प्रसाद विधायक दल के नेता चुने गए। इस तरह दोबारा मुख्यमंत्री बनने से राम सुंदर दास चूक गए। 

भाजपा की 39 सीटों पर हुई थीं जीत
इस चुनाव में भारतीय  जनता पार्टी को 39 सीटें मिली थीं। इसी तरह सीपीआई को 23, झारखंड मुक्ति मोर्चा को 19, इंडियन  पीपुल्स फ्रंट को सात और सीपीएम को छह सीटें मिली थीं। 30 विधानसभा सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी हुए थे। इस चुनावी मैदान में छोटी-बड़ी 45 पार्टियां उतरी थीं, जिनमें 34 का खाता भी नहीं खुला सका था। वहीं कुछ पार्टियां एक से तीन सीटें जीती थीं। वर्तमान उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी 1990 के चुनाव में पटना सेंट्रल से कांग्रेस उम्मीदवार अकील हैदर को हराया था। इस चुनाव में 149 महिला मैदान में थीं, जिनमें 10 को ही सफलता मिली।

कांग्रेस को दूसरी बार 100 से कम सीटें
इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 71 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा। आजादी के बाद यह दूसरी बार हुआ, जब कांग्रेस को बिहार के विधानसभा चुनाव में 100 से कम सीटें मिली थीं। इससे पहले वर्ष 1977 के चुनाव में कांग्रेस को 57 सीटों पर संतोष करना पड़ा था। 

आंकड़े एक नजर में :
मतदाता : 5 करोड़ 25 लाख
मतदान हुए : 3 करोड़ 26 लाख
मतदान प्रतिशत : 62.04
कुल उम्मीदवार : 6629
कुल सीटें : 324, 
सामान्य: 247, 
एससी: 49 
एसटी: 28