मुंबई में एंट्री से पहले कंगना रनौत का कोरोना टेस्ट आया निगेटिव, क्या BMC अब भी करेगा क्वारंटाइन?

kangana ranaut

शिवसेना के साथ जुबानी जंग के बीच अभिनेत्री कंगना रनौत मुंबई के लिए रवाना हो चुकी हैं। आज सुबह ही वह अपने होमटाउन मंडी से चंडीगढ़ के लिए निकलीं, जहां से वह फ्लाइट से मुंबई पहुंचेंगी। बुधवार को मुंबई रवाना होने से पहले ही मंगलवार देर रात कंगना रनौत ने अपना कोरोना टेस्ट कराया, जिसमें उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। रास्ते में कंगना एक मंदिर में पूजा-अर्चना भी करती देखी गईं। कंगना रनौत वाई श्रेणी की सुरक्षा घेरे में मुंबई आ रही हैं। मोहाली एयरपोर्ट पर मुंबई रवाना होने से पहले वह सुरक्षाबलों से घिरी दिखीं।

मंडी जिले के सीएमओ देवेंद्र शर्मा ने कहा कि कंगना का कोरोना टेस्ट हो गया है और उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। शिवसेना के सांसद संजय राउत के साथ चल रही अपनी जंग के बीच मुंबई में मंगलवार को अधूरे कोरोना रिपोर्ट की वजह से उनकी मुंबई की यात्रा बाधित हो सकती थी, मगर कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद अब कंगना मुंबई के लिए रवाना हो चुकी हैं और मोहाली एयरपोर्ट से फ्लाइट पकड़कर मुंबई पहुंचेंगी। 

LIVE: शिवसेना से तकरार के बीच Y श्रेणी की सुरक्षा में कंगना रनौत आ रही हैं मुंबई, मोहाली एयरपोर्ट पहुंचीं

मुंबई के लिए रवाना होने से पहले कंगना रनौत ने एक ट्वीट किया-‘रानी लक्ष्मीबाई के साहस, शौर्य और बलिदान को मैंने फिल्म के जरिए जिया है। दुख की बात यह है मुझे मेरे ही महाराष्ट्र में आने से रोका जा रहा है। मैं रानी लक्ष्मीबाई के पद चिन्हों पर चलूंगी, ना डरूंगी, ना झुकूंगी। गलत के खिलाफ मुखर होकर आवाज उठाती रहूंगी, जय महाराष्ट्र, जय शिवाजी।’

एक ओर जहां महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि कंगना रनौत के मादक पदार्थ लेने के आरोपों की पुलिस जांच करेगी। वहीं, दूसरी ओर बीएमसी ने यहां उनके बंगले के बाहर एक नोटिस चिपकाया है, जिसमें कहा गया है कि उसकी मंजूरी के बिना इसमें कई बदलाव किए गए हैं। इसके अलावा, मुंबई में बीएमसी कंगना को क्वांरटाइन भी कर सकती है।  मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीएमसी ने कहा है कि अगर कंगना 7 दिन से ज्यादा मुबंई में रहेंगी तो उन्हें क्वारंटाइन किया जाएगा। वहीं अगर वह अपनी 7 दिन से पहले की रिटर्न टिकट दिखा देती हैं तो उन्हें क्वारंटाइन नहीं होना होगा। मगर यहां देखने वाली बात है कि कंगना की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है तो इसके बाद भी बीएमसी क्वारंटाइन करेगा?

दरअसल, कंगना रनौत (33) और शिवसेना सांसद संजय राउत के बीच पिछले सप्ताह उस वक्त जुबानी जंग हो गई जब संजय राउत ने कहा कि कंगना यदि मुंबई में असुरक्षित महसूस करती हैं तो उन्हें यहां नहीं लौटना चाहिए। 

कंगना के किस बयान से शुरू हुआ था विवाद
दरअसल, बीते दिनों कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी पीओके से की थी। कंगना ने ट्विटर पर लिखा था, ‘संजय राउत ने मुझे खुलेआम  धमकी दी है और मुंबई नहीं आने को कहा है। मुंबई की गलियों में आजादी के भित्ति चित्र और अब खुली धमकी, मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसी फ़ीलिंग क्यों दे रहा है?’

कंगना ने दिया था चैलेंज
कंगना ने आगे संजय राउत को चैलेंज करते हुए कहा, ‘आप महाराष्ट्र नहीं हैं। आप ये नहीं कह सकते कि मैंने महाराष्ट्र की निंदा की। संजय जी मैं 9 सितंबर को मुंबई आ रही हूं। आपके लोग कह रहे हैं वे मेरा जबड़ा तोड़ देंगे, मुझे मार डालेंगे। आप लोग मुझे मारिए क्योंकि इस देश की मिट्टी वो ऐसे ही खून से सींचकर बनी है। इस देश की गरिमा के लिए ना जाने कितने लोगों ने अपनी जान दी है और हमें भी अपना कर्ज निभाना है। मिलते हैं 9 सितंबर को। जय हिन्द…जय महाराष्ट्र।’

कंगना रनौत को मिली Y श्रेणी की सुरक्षा
शिवसेना नेता संजय राउत से जुबानी जंग के बीच कंगना को केंद्र सरकार की तरफ से वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। 9 सितंबर को उनके मुंबई पहुंचने से ठीक पहले केंद्र सरकार ने कंगना को वाई श्रेणी की सुरक्षा पर महुर लगा दी। इस वाई श्रेणी की सुरक्षा के तहत करीब 10 सशस्त्र कमांडों की तैनाती की जाती है।