Home देश महाराष्‍ट्र: 1 दिन में कोरोना के 17,794 केस और 416 मरीजों...

महाराष्‍ट्र: 1 दिन में कोरोना के 17,794 केस और 416 मरीजों की मौत, कुल आंकड़ा 13 लाख पार

मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोविड-19 (COVID-19) के एक दिन में 17,794 नये मामले सामने आने से राज्य में संक्रमितों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 13,00,757 हो गई. यह जानकारी राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने दी. विभाग ने बताया कि दिन में 416 और मरीजों की संक्रमण से मौत हो जाने से राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 34,761 हो गई. विभाग ने कहा कि शुक्रवार को 19,592 मरीजों को ठीक होने के बाद छुट्टी दी गई जिससे राज्य में अभी तक ठीक हुए मरीजों की संख्या बढ़कर 9,92,806 हो गई. राज्य में वर्तमान में 2,72,775 उपचाराधीन मरीज हैं.

मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,876 नए मामले सामने आए, 48 मरीजों की मौत
मुंबई में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1,876 नए मामले सामने आए. इसके साथ ही अब तक यहां संक्रमण के 1,94,177 मामले सामने आ चुके हैं. बृह्नमुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) ने यह जानकारी दी. बीएमसी ने कहा कि कोविड-19 के कारण 48 मरीजों की मौत होने के बाद मुंबई में अब तक इस घातक वायरस से 8,703 लोगों की जान जा चुकी है.

इसके मुताबिक, शुक्रवार को 1,169 मरीजों के संक्रमणमुक्त होने के बाद शहर में अब तक 1,56,807 लोग ठीक हो चुके हैं. बीएमसी के मुताबिक, मुंबई में फिलहाल 28,273 मरीज उपचाराधीन हैं. शहर में अब तक 10.57 लाख नमूनों की जांच की जा चुकी है. मुंबई में 686 निषिद्ध क्षेत्र हैं.ये भी पढ़ें: COVID-19: भारत में लगभग 48 लाख मरीज हुए ठीक, जानिए अब कितने ऐक्टिव केस


ये भी पढ़ें: कोरोना से जूझ रहा महाराष्ट्र, मुंबई की लोकल में भीड़ का VIDEO देख ‘डर’ जाएंगे

टोपे ने कोविड-19 अस्पतालों में डाक्टरों को सात दिन के अंतराल पर काम करने को कहा
महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने शुक्रवार को कहा कि अस्पतालों में कोरोना वायरस के मरीजों का उपचार कर रहे डॉक्टरों को कोविड-19 खंड में सात दिनों के अंतराल पर और बीच में एक दिन छुट्टी के साथ बाकी दिन गैर कोविड-खंड में काम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोविड-19 खंड में सात से 15 दिनों तक काम करने और एक सप्ताह घर पर पृथक-वास में रहने के बजाए सात दिन के अंतराल पर काम करना चाहिए.

टोपे ने कहा कि अदला-बदली के आधार पर काम करने की व्यवस्था से डॉक्टरों की किल्लत के मुद्दे का कुछ हद तक समाधान हो जाएगा. वह महाराष्ट्र के पूर्वी विदर्भ में कारोना वायरस की स्थिति की समीक्षा के बाद संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने स्थिति का जायजा लेने के लिए भंडारा, गोंदिया और नागपुर में सरकारी अस्पतालों का दौरा किया. उन्होंने कहा, ‘गंभीर रोगों से ग्रस्त वरिष्ठ डॉक्टरों को छोड़कर हर डॉक्टर को कोविड-19 विभाग में काम करना चाहिए. उन्हें बदल-बदल कर काम करना चाहिए.’

Most Popular