भाजपा कार्यकर्ताओं से न उलझे राज्य सरकार, हम जुल्म का जवाब देंगेः दीपक प्रकाश

hemant sarkar  dont get entangled with bjp workers we will answer the oppression say deepak prakash

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में अध्यक्षीय भाषण करते हुए राज्य सरकार को भाजपा कार्यकर्ताओं से नहीं उलझने की चेतावनी दी। उन्होंने शायराना लहजे में कहा कि तेरी जुल्मों ने सिखा दिया है हमें जुल्मों से लड़ना। दीपक प्रकाश ने हेमंत सरकार पर 116 कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे लादने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि एक हाथ में केंद्र की उपलब्धियों का झंडा और दूसरे हाथ में राज्य सरकार की विफलताओं का डंडा लेकर भाजपा कार्यकर्ता प्रदेश के जन-जन तक जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा ने संघर्ष से परिवर्तन का रास्ता तैयार करने की योजना बनाई है। दीपक प्रकाश ने हेमंत सरकार को आदिवासी विरोधी, महिला विरोधी और किसान विरोधी बताया। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार झारखंड में खनिजों की तस्करी करा रही है। नई सरकार के आते ही आदिवासियों का नरसंहार हुआ। मुख्यमंत्री मौनी बाबा बने रहे। सिदो-कान्हों के वंशज की हत्या भी इस सरकार में हुई। रघुवर सरकार की गरीबों, किसानों और महिलाओं के लिए लाई सभी योजनाओं को इस सरकार ने बंद कर दिया। उन्होंने कहा कि हम चुनाव हारे हैं मैदान नहीं हारे हैं। झामुमो, कांग्रेस और राजद को मिलाकर 52 लाख वोट मिले हैं। भाजपा और झाविमो को मिलाकर 56 लाख वोट मिले हैं।

सांसदों-विधायकों ने अपने घरों से लिया हिस्सा
भाजपा की नई कार्यसमिति की पहली बैठक में पार्टी के सांसदों, विधायकों और कार्यसमिति सदस्यों ने अपने-अपने घरों से हिस्सा लिया। जेपी नड्डा ने अपने संबोधन में निशिकांत दूबे, पीएन सिंह और यदुनाथ पांडेय का नाम भी लिया। कुछ प्रदेश पदाधिकारी रांची स्थित प्रदेश कार्यालय में भी मौजूद थे। रांची कार्यालय में मंच पर प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश के अलावा विधायक दल नेता बाबूलाल मरांडी, पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा और राज्यसभा सदस्य तथा पार्टी के प्रदेश महामंत्री समीर उरांव भी मौजूद थे।