भागलपुर में दहेज की भेंट चढ़ी विवाहिता, ससुरालवालों पीट-पीटकर ने मार डाला

Marriage, Throat, Murder

बिहार के भागलपुर में एक विवाहिता दहेज की भेंट चढ़ गई। नाथनगर में मधुसूदनपुर थाना क्षेत्र के भतोड़िया गांव में सोमवार को एक नवविवाहिता संगीता कुमारी(22वर्ष) की हत्या ससुरवालों ने दहेज की खातिर कर दी। घटना के बाद पति गुन्नू यादव समेत सभी ससुराल वाले घर छोड़कर फरार हैं। घर पर सिर्फ मृतिका जेठानी रेशमा देवी मौजूद थी।

 घटना की जानकारी ग्रामीणों ने मायके वालों को सुबह दी। जिसके बाद मृतक के पिता डब्लू यादव परिजनों के साथ बेटी की ससुराल पहुंचे और पुलिस को खबर की। पिता ने दामाद गुन्नू यादव पर दो लाख रुपये दहेज की खातिर बराबर बेटी से मारपीट और उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया।

मीडिया को दिए बयान में उन्होंने बताया कि चार वर्ष पहले बेटी संगीता की शादी भतोड़िया के बिचला टोला निवासी गुन्नू यादव के साथ दो लाख रुपये कैश और एक भर सोने के गहने देकर की थी। दामाद ड्राइवरी का काम करता है। गाड़ी ख़रीददने के लिए अक्सर पैसे मांगता था। गरीबी और पैसे के अभाव में दामाद की मांग पूरी नहीं करने पर ससुरालवालों ने बेटी को घर से भगा दिया था। काफी दिनों तक वह मायके में ही रही। 

हाल के दिनों में वह अपने ससुराल आयी थी जहां ससुरवालों ने दामाद, सास ससुर, जेठानी ने मिलकर उसकी पीट पीटकर हत्या कर दी। साक्ष्य छिपाने के लिए चापानल के पास ले जाकर पूरे शरीर में लगे खून को धोया। लेकिन कई जगह पर खून के छींटे अभी भी देखने को मिले हैं। पुलिस ने भी खून के निशान और संगीता के साथ बेरहमी से पिटाई की बात अपनी डायरी में नोट किया है। उधर मृतक महिला के ससुरवाले घर छोड़कर फरार हैं। 

मृतक संगीता की मां हत्या करवाने का आरोप जेठानी रेशमा देवी और दामाद गुन्नू यादव पर लगा रही थी। उन्होंने बताया कि बेटी का घर नही बसने देने में उसकी जेठानी की अहम भूमिका है। घटना पर मधुसूदनपुर थानाध्यक्ष मिथलेश कुमार ने बताया कि मृतक महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी। ससुरवाल पक्ष के लोग घर से फरार हैं।

जेठानी ने बताया गोतनी को टीबी था
जेठानी रेशमा देवी ने बताया कि उनके पति दिल्ली में काम करते हैं। देर रात अचानक छोटी गोतनी को खांसी हुई। खांसते-खांसते उसे खून की उल्टी शुरू हो गयी। पूरी रात जागकर हमने उसकी सेवा की है। चापानल के नजदीक बाथरूम के पास भी उसकी नाक से काफी खून जाने लगा। पैर हाथ धुलाकर उसने और देवर गुन्नू ने उसे आराम से चौकी पर लिटाया। सुबह जागने पर पता लगा कि उसकी मौत हो गयी है। तब जाकर ग्रामीणों को उन्होंने घटना की जानकारी दी।