Home बिहार बिहार विधानसभा चुनाव 2020: कोरोना संकट में टेक्निकल वार रूम में तब्दील...

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: कोरोना संकट में टेक्निकल वार रूम में तब्दील राजनीतिक दलों के ऑफिस

कोरोना काल में बिहार विधानसभा चुनाव की सरगर्मी तेज होते ही सभी राजनीतिक दलों ने खुद को तकनीक से जोड़ लिया है। लोजपा तो तकनीकी रूप से काफी समृद्ध हो गई है। रालोसपा ने भी अपने कार्यकर्ताओं को डिजिटल माध्यम से जोड़ लिया है। वहीं, हम भी तकनीक के मामले में पीछे नहीं है। दलों के प्रदेश कार्यालय वार रूम में तब्दील हो रहे हैं। माध्यम चाहे जो हो, लेकिन सभी दलों का प्रयास है कि अधिक से अधिक वोटरों तक उनके नेता की पहुंच हो सके।

लोजपा(LJP) के लिए रामविलास दिल्ली तो चिराग पटना से करेंगे वर्चुअल रैली
कोरोना काल में चुनाव कराने को लेकर लोजपा का स्टैंड भले कुछ अलग हो, लेकिन तैयारी में वह सबसे आगे है। दिल्ली में पार्टी का बड़ा वार रूम महीनों पहले से काम कर रहा है। अब पटना में वार रूम बनाने की तैयारी है। जरूरत पड़ी तो पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान दिल्ली से ही वर्चुअल रैली को संबोधित कर सकते हैं। पटना से तो चिराग के अलावा दूसरे नेता भी रैली को संबोधित करेंगे।

लोजपा ने सूचना तकनीक के मामले में खुद को काफी समृद्ध कर लिया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिल्ली में बैठकर हर राज्य के कार्यकर्ताओं से बैठक करते रहे हैं। बिहार प्रदेश कमेटी की बैठक को भी उन्होंने कई बार डिजिटल माध्यम से संबोधित किया है। पार्टी अब उसी तरह की पूरी व्यवस्था पटना में करने जा रही है। प्रदेश कार्यालय में वार रूप बनाने के लिए दिल्ली से तकनीकी टीम आ रही है। संचालन के लिए दिल्ली की टीम को जिम्मेदारी दी गई है। पार्टी सभी जिलों में भी अपना आईटी सेल भी खोल रखा है। वहां से भी डिजिटल माध्यम से सीमित संख्या में लोगों को संबोधित किया जा सकता है। प्रदेश प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देश के अनुसार डोर-डोर कंपेन भी चलेगा। अब भी चिराग पासवान अपने संसदीय क्षेत्र में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर चुके हैं, लेकिन यह तय है कि हर कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल भी रखा जाएगा। 

रालोसपा(RLSP) कार्यकर्ता जुड़े हैं डिजिटली, रैली की भी तैयारी 
रालोसपा ने बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को डिजिटल माध्यम से जोड़ लिया है। उनसे बात करने और तैयारियों को जायजा लेने के लिए अभी जूम एप का ही इस्तेमाल हो रहा है, लेकिन जल्द ही पार्टी ऐसी व्यवस्था करेगी कि एक साथ दो से तीन विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं को पटना से संबोधित किया जा सके। वर्चुअल रैली की भी व्यवस्था हो रही है। रालोसपा अपने प्रदेश कार्यालय में ही पूरी व्यवस्था कर रही है। वार रूम बनाने का काम शुरू हो गया है। जल्द ही यह काम पूरा होगा। उसके बाद आमसभा को भी इस माध्यम से पार्टी प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा संबोधित कर सकेंगे। अभी बैठकों को दौर कार्यकर्ताओं तक ही सीमित है, लेकिन तैयारी पूरी होते ही रैलियों का भी आयोजन होगा। पार्टी प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा कोरोना काल में भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लोगों से मिलते रहे हैं। कई इलाके में उन्होंने छोटी-छोटी सभाएं कर भी ली हैं। चुनाव की घोषणा होने के बाद प्रचार अभियान का गाइडलाइन जारी होते ही पार्टी की टीम जिलों में भी उतर जाएगी। प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि हम पहले से ही चुनाव कराने के पक्ष में रहे हैं। लिहाजा हमने अपनी पूरी तैयारी कर ली है। राष्ट्रीय अध्यक्ष के अलावा प्रदेश अध्यक्ष और सभी वरीय नेता जिलों का दौरा कर भी रहे हैं।

हम(HAM) भी करेगा वर्चुअल रैली, कार्यालय बना स्टूडियो
हम पार्टी ने चुनाव प्रचार की डिजिटल तैयारी लगभग पूरी कर ली है। पार्टी प्रमुख जीतन राम मांझी हर विधानसभा क्षेत्र के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से लगभग हर हफ्ते बात करते हैं। जल्द ही यह सिलसिला रोज शुरू हो जाएगा, लेकिन जमीनी प्रचार के लिए पार्टी अभी चुनाव आयोग के निर्देशों का इंतजार कर रही है। कोरोना काल में चुनाव की तैयारी में हम पीछे नहीं है। पार्टी कार्यालय में डिजिटल स्टूडियो तैयार कर लिया है। इसका उपयोग भी शुरू हो गया है। हम प्रमुख ने जूम एप से कार्यकर्ताओं से बात करनी शुरू की थी। धीरे-धीरे जरूरत बढ़ती गई और पार्टी ने अपने प्रदेश कार्यालय में पूरी व्यवस्था कर ली है। प्रदेश प्रवक्ता अमरेन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि पार्टी वर्चुअल रैली की तैयारी भी कर चुकी है। गठबंधन के साथी के प्लेटफॉर्म का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। अपने कार्यकर्ताओं से बात कर जिलों की रिपोर्ट लेने की व्यवस्था अभी है। इसको थोड़ा और विस्तार देकर हम कार्यालय से ही रैली करने की भी तैयारी है। 
 

Most Popular