Homeबिहारबिहार में श्वास में संक्रमण से सर्वाधिक 165 कोरोना संक्रमितों की हुई...

बिहार में श्वास में संक्रमण से सर्वाधिक 165 कोरोना संक्रमितों की हुई मौत

बिहार में कोरोना महामारी के संक्रमितों में  मोरबिडिटी (पूर्व से अन्य गंभीर रोग से ग्रसित होने) के कारण मरने वालों में 165 की मौत श्वास लेने में परेशानी या इंफेक्शन (संक्रमण) के कारण हुई। राज्य में अबतक 785 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग के पास 775 संक्रमितों की मौत के उपलब्ध कारणों में 220 संक्रमितों की मौत बिना किसी कोमोरबिडिटी यानि अन्य बीमारी के हुई है, शेष 555 की मौत किसी न किसी अन्य गंभीर कारणों के सहयोग से हुई है।

मधुमेह और हृदय रोग से ग्रसित 143 व्यक्तियों की मौत 
राज्य में गंभीर रोगों के साथ हुई मौत में मधुमेह व हृदय रोग से ग्रसित 143 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई। इनमें मधुमेह से ग्रसित 75 और हृदय रोग के 68 मरीज कोरोना संक्रमित होने के बाद मौत के शिकार हो गए। जबकि  क्रॉनिक किडनी के 68 मरीज कोरोना संक्रमण के हमले को नही झेल सके और असमय उनकी मौत हो गयी। 

अन्य प्रमुख रोगों से ग्रसित लोग भी मरने वालों में शामिल
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अन्य गंभीर रोगों से ग्रसित मरीज भी मरने वालों में शामिल हैं। इनमें उच्च रक्तचाप के 68 तो टीबी के 12, रक्त में संक्रमण के 16, टाइफाइड के 3 मरीजों की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हुई। 

9 मरीजों के सभी अंग फेल होने से तो आत्महत्या के कारण एक की मौत
विभाग के अनुसार नौ कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत उनके सभी अंगों के काम करना बंद कर देने के कारण हो गयी। वहीं, कोरोना संक्रमित एक मरीज के इलाज के दौरान आत्महत्या कर लेने के कारण मौत हुई। संक्रमण के दौरान ही मलेरिया होने से एक, अस्थमा के 26, पक्षाघात (लकवा) मारने के कारण एक, मल्टी सेलेब्रल इंफेक्शन या स्ट्रोक से एक कोरोना संक्रमित की मौत हो गयी। इसी प्रकार, अन्य मरीजों की विभिन्न  स्वास्थ्य कारणों से भी मौत हुई। 

Most Popular