बिहार में शराब माफिया के खिलाफ पुलिस कार्रवाई न होने से खफा महिलाओं ने खुद खोला मोर्चा

due to not police action on liquor traffickers and desi wine maker unhappy women given warning for a

बिहार में शराबबंदी के बाद भी कई जगहों पर धड़ल्ले से देसी शराब बनाकर बिक्री की जा रही है। यही नहीं शराबी खुलेआम शराब पीकर उत्पात भी मचा रहा है। पुलिसिया कार्रवाई नहीं होती देख जीविका की महिलाएं शुक्रवार को खुद आगे आ गई। मामला मानसी थाना क्षेत्र के फेनगो गांव का है। 

महिलाओं ने बताया कि गांव में आधा दर्जन से अधिक जगहों पर देसी शराब बनायी और बेची जा रही है। सुदूर इलाके में गांव रहने के कारण पुलिस भी यहां यदा-कदा ही आती है। ऐसे में गांव की महिलाओं को शराब बनाने वालों के खिलाफ आगे आना पड़ा। गांव और जीविका से जुड़ी महिलाएं जमा हुई और शराब की भट्ठी चलाने वालों के घर पहुंच गई। 

महिलाओं ने एक जगह शराब बनाने वाला का सामान पकड़ा। दूसरी जगह शराब की भट्ठी तोड़ी। इसके बाद गांव में बैठक कर शराब को बंद करने के कहा गया। बैठक में साफ कहा गया कि अगर शराब का धंधा बंद नहीं किया गया तो सभी के खिलाफ थाना में भी लिखित शिकायत की जाएगी। 

इधर मानसी के प्रभारी थानाध्यक्ष संतोष कुमार झा ने बताया कि पुलिस की जागरूकता के कारण अब समाज के लोग भी इस मामले में सक्रिय हो रहे हैं। अब ग्रामीणों का भी सकारात्मक सहयोग मिलने लगा है। पुलिस शीघ्र शराब के धंधेबाज के विरुद्घ कार्रवाई करेगी।