Homeबिहारबिहार में नहीं होगी बिजली की कमी, अगले महीने तक इस जिले...

बिहार में नहीं होगी बिजली की कमी, अगले महीने तक इस जिले में तैयार हो जाएंगे 20 से अधिक सौर ऊर्जा प्लांट, विभाग खुद लोगों से खरीद रही बिजली

बिहार में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए राज्य सरकार ने एक नई पहल की है। राज्य के कई जिलों में अब प्रदेश वासी खुद ही बिजली उत्पन्न कर रहे है। इसके साथ ही साथ इसे लेकर राज्य सरकार द्वारा मुख्य रूप से बढ़ावा भी दिया जा रहा है। राज्य में लगे सौर ऊर्जा प्लांट से लोगों की कमाई का जरिया बनता जा रहा है।

साथ में बिजली उपभोग करने के साथ-साथ अतिरिक्त बिजली बेच कर नालंदा के कई लोग प्रतिमाह हजारों रुपये कमा रहे हैं। बता दे कि जिले में 250 सरकारी भवनों और 132 निजी मकानों की छतों पर लगाये गये सौर ऊर्जा प्लांट से हर दिन 2176 यूनिट बिजली तैयार हो रही है। इससे प्रतिमाह करीब 3.91 लाख रुपये की बिजली बिल की बचत होती है।

22.59 करोड़ रुपये की खर्च से तैयार होंगे सौर ऊर्जा प्लांट                                                              ऐसे में नालंदा जिले के 120 लोग ऐसे हैं, जो सौर ऊर्जा से उत्पादित बिजली का उपभोग करने के बाद बची करीब दो लाख रुपये की अतिरिक्त बिजली हर महीने बिजली कंपनी को बेच रहे हैं। ये सौर ऊर्जा प्लांट जल-जीवन-हरियाली, अक्षय ऊर्जा व स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत लगाये गये हैं।

इन सौर ऊर्जा प्लांटों पर 22.59 करोड़ रुपये खर्च किये गये हैं। इन प्लांटों से 20 से 25 वर्ष तक बिजली उत्पादन होग। इसके देखरेख की जिम्मेदारी पांच वर्ष तक ब्रेडा को दी गयी है।

20 और प्लांट हो जाएगा एक्टिव                                                                                              बता दे कि फिलहाल 250 सौर ऊर्जा प्लांटों से बिजली सप्लाइ हो रही है। 20 और प्लांट इस माह के अंत तक एक्टिव हो जायेंगे। अधिकतर सौर ऊर्जा प्लांट उपयोग से अधिक बिजली का उत्पादन कर रहे हैं। आम लोगों की भी प्लांट लगाने में रुचि बढ़ी है। वे भी बिजली उत्पादन कर उसे बेच रहे हैं।

Most Popular