Homeबिहारबिहार में कोरोना संकट के बीच विधानसभा चुनाव में डोर टू डोर...

बिहार में कोरोना संकट के बीच विधानसभा चुनाव में डोर टू डोर प्रचार को लेकर आयोग ने जारी किया ये फरमान

बिहार विधानसभा चुनाव में निर्वाचन आयोग ने कोविड-19 को देखते हुए इस बार कई बदलाव किए हैं जिसमें प्रचार अभियान को भी शामिल किया गया है। घर – घर जाकर चुनाव प्रचार के समय अधिकतम पांच व्यक्ति ही शामिल हो सकते हैं। (सुरक्षाकर्मियों को छोड़कर) रोड शो में अधिकतम 5 गाड़ियों के कारवां की अनुमति दी जाएगी। 

दो गाड़ियों के काफिले के बीच में न्यूनतम 30 मीटर का अंतर रखा जाएगा। मंगलवार को श्री कृष्ण मेमोरियल हॉल में सेक्टर पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए यह जानकारी जिला निर्वाचन पदाधिकारी कुमार रवि ने दी। उन्होंने कहा कि निर्वाचन संबंधी सभा रैली हेतु वैसे स्थल का चयन किया जाना है, जहां सामाजिक दूरी बनाए रखने हेतु पर्याप्त जगह हो एवं प्रवेश तथा निकास के बिंदु स्पष्ट हों। 

ऐसे स्थल पर सामाजिक दूरी के मानक अनुपालन करने हेतु गोल घेरा चिन्हित किया जाएगा तथा भाग लेने वाले प्रतिभागियों की संख्या राज्य आपदा प्राधिकार द्वारा निर्धारित संख्या से अधिक नहीं होगी। रैली /सभा में कोविड-19 के निर्देशों के अनुश्रवण हेतु सेक्टर हेल्थ रेगुलेटर की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। आयोजनकर्ता मास्क सैनेटाइजर थर्मल स्कैनर आदि को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएंगे। सभी वैसे मतदाता जो 80 वर्ष से अधिक आयु के हैं को पोस्टल बैलट के द्वारा मतदान कराया जाएगा।

 वैसे मतदाता जो कोविड से ग्रस्त हैं तथा सक्षम प्राधिकार द्वारा प्रमाणित है चुनाव की अधिसूचना की तिथि से 5 दिन के अंदर चिन्हित हो जाते हैं तो उन्हें पोस्टल बैलट के द्वारा मतदान की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। सेक्टर पदाधिकारी 80 वर्ष से अधिक के मतदाताओं के चिह्नीकरण एवं कोविड ग्रसित की सूची बनाकर पोस्टल बैलट की सुविधा उपलब्ध कराए जाने हेतु उत्तरदायी होंगे। 

 नामांकन के समय दो व्यक्ति ही निर्वाचन अधिकारी के समक्ष रहेंगे
निर्वाचन आयोग ने  अधिकारियों को निर्देश दिया है कि  जो दिशा निर्देश दिए गए हैं उसका  पालन कराएं। नामांकन के समय अधिकतम दो व्यक्ति  ही निर्वाची पदाधिकारी के समक्ष उपस्थित हो सकते हैं। नामांकन के समय अधिकतम दो वाहन की ही अनुमति होगी। नामांकन के समय अभ्यर्थी एवं प्रस्तावक को मास्क पहनना अनिवार्य है। सभी मतदान केंद्रों को मतदान से 1 दिन पूर्व सैनिटाइज कराया जाएगा।

मतदान केंद्र पर थर्मल स्क्रीनिंग
सभी मतदान केंद्र के प्रवेश द्वार पर सैनेटाइजर एवं थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था होगी। निर्वाचकों को पहचान के क्रम में उनके मास्क को आवश्यकतानुसार हटाना होगा। मतदान केंद्र पर पोलिंग एजेंट के बैठने की व्यवस्था इस प्रकार की जाएगी कि सामाजिक दूरी के प्रावधानों का अनुपालन हो। किसी भी समय मतदान पदाधिकारी के सामने मात्र एक ही मतदाता सामाजिक दूरी का पालन करते हुए उपस्थित होंगे।

ईवीएम और वीवीपैट के बारे में दी गई जानकारी
प्रशिक्षण कार्यक्रम में सभी प्रशिक्षणार्थियों को सेक्टर पदाधिकारी के कार्य एवं दायित्व को बताया गया। ईवीएम वीवीपैट की तकनीकी जानकारी दी गई। 
 

Most Popular