बिहार को करोड़ों की सौगात देने के मौके पर भोजपुरी में संबोधन की शुरुआत कर पीएम मोदी ने दिल जीता

pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार को करोड़ों रुपये की योजनाओं की सौगात दी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने बिहार के लिए 294 करोड़ की योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस दौरान पीएम मोदी ने भोजपुरी में भाषण की शुरूआत कर लोगों का दिल जीता। प्रधानमंत्री मोदी ने सौगात देकर और भोजपुरी में भाषण की शुरूआत कर एक तीर से कई निशाने साधे।

दरअसल में बिहार में कुछ ही महीने में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। और इस चुनाव में नीतीश कुमार की अगुवाई में भाजपा और एनडीए के अन्य घटक उतर रहे हैं। बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक कुछ माह पहले करोड़ों रुपये की सौगात देकर जहां प्रधानमंत्री लोगों का दिल जीतने की कोशिश की वहीं मौके पर भोजपुरी में भाषण की शुरूआत कर और बीच-बीच में भोजपूरी का उपयोग कर लोगों का दिल जीत लिया। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी पहले भी बिहार में अपने दौरे के दौरान स्थानीय भाषा में लोगों को संबोधित करते रहे हैं। 

भोजपुरी में पीएम मोदी ने ये कहा-
‘रउवा सभे के प्रणाम बा! देशवा खातिर बिहार खातिर गांव के जिंदगी आसान बनावे खातिर और व्यवस्था मजबूत करे खातिर मछरी उत्पादन डेयरी पशुपालन और कृषि क्षेत्र में पढ़ाई और रिसर्च से जुड़ले सैकड़न करोड़ रुपये के योजना के शिलान्यास और लोकार्पण भईल ह। इकरा खातिर सौंसे बिहार के भाई बहन के अधरांम बधाई दे तानि।’ 

बिहार के किसानों की आमदनी और बढ़ेगी: मुख्यमंत्री नीतीश
प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों को संबोधित किया उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना से बिहार के किसानों की आमदनी और बढ़ेगी। इस दौरान उन्होंने कहा कि किसानों, पशुपालकों और मछली पालन में लगे लोगों की आमदनी बढ़ाने के लिए बिहार सरकार ने कई पहल किए हैं। वर्ष 2005 के पहले कृषि और पशुपालन तथा मछली पालन क्षेत्र में कोई काम नहीं होता था। बिहार सरकार की योजनाओं के साथ केंद्र की योजनाओं के सहयोग से किसानों को और फायदा होगा।  

294.53 करोड़ की योजनाओं की सौगात मिली
बिहार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को मत्स्य, पशुपालन व कृषि विभाग से जुड़ी 294.53 करोड़ की योजनाओं की सौगात मिली। इस दौरान प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अंतर्गत 107 करोड़ की लागत की परियोजना के शुभारंभ की घोषणा की। प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान 5 करोड़ की लागत से सीतामढ़ी के डुमरा में बखरी मछली बीज फार्म, 10 करोड़ का किशनगंज के मत्स्य पालन कॉलेज और पटना स्थित बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय में जलीय रेफरल प्रयोगशला का उद्घाटन किया। पटना के मसौढ़ी का 2 करोड़ का फिश ऑन व्हील्स, मधेपुरा का एक करोड़ का मत्स्य चारा मिल, 2.87 करोड़ का कृषि विश्वविद्यालय, पूसा का समेकित मात्स्यिकी उत्पादन प्रौद्योगिकी केन्द्र का उद्घाटन किया। 

वहीं 84.27 करोड़ की लागत से बनी पूर्णिया सीमेन स्टेशन, 8.06 करोड़ का पटना में इम्ब्रयो ट्रांसफर टेक्नोलॉजी और आईवीएफ लैब, 2.13 करोड़ का बेगूसराय, खगड़िया, समस्तीपुर, नालन्दा और गया में तैयार सेक्स सार्टेड सीमेन परियोजना का शुभारंभ किया। उन्होंने कृषि विवि समस्तीपुर का 11 करोड़ से बना स्कूल ऑफ एग्रीबिजिनेस एंड रूरल मैनेजमेंट के भवन का उद्घाटन, 27 करोड़ का ब्वायज हॉस्टल, 25 करोड़ का स्टेडियम और 11 करोड़ का इंटरनेशनल गेस्ट हाउस का शिलान्यास किया।