होमबिहारबिहार के इस जिले में तैयार हो रहे मशरूम के अचार-पापड़,भुजिया-चिप्स, किसानों...

बिहार के इस जिले में तैयार हो रहे मशरूम के अचार-पापड़,भुजिया-चिप्स, किसानों को सरकार दे रही शिक्षण

अब तक आप सिर्फ मशरुम व मशरुम के सब्जी ही खायें होंगे। लेकिन अब मशरुम से कई प्रकार के उत्पाद भी बनाये जा रहे है। यह उत्पाद भागलपुर में मनाया जाएगा इसके लिए बिहार के सभी जिलों के किसानों को सरकार के द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ऐसे में राजेंद्र केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय में मशरूम उत्पादक किसानों को ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है और किसानों से जुड़ी है मशीनों के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

भागलपुर में कृषि विश्वविद्यालय में प्रशिक्षण लेने वाली नैना उपाध्याय बताती है कि प्रशिक्षण से पता चला कि पाउडर की मदद से मैदा व बेसन को तैयार किया जाता है। नैना बताती है की अब वह मशरूम की खेती ही नहीं बल्कि मशरूम से अनेक प्रकार के उत्पाद में तैयार कर पा रही है। इसके साथ ही साथ नैना अपना खुद का ब्रांड मार्केट में स्थापित करने वाली है। नैना के उत्पादों को भागलपुर समेत बिहार के अलग-अलग शहरों में बेच रहीं हैं। इन्होंने बताया कि पकौड़ी बनाने के लिए भी मशरूम की जबरदस्त मांग हो रही है।


भागलपुर के राजेंद्र कृषि विश्वविद्यालय ने 40 किसानों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है उसमें मशरूमों के उपाय की जानकारी दी जाती है। वैसे में प्रशिक्षण ले रही एक महिला बताती है कि उन्हें अब गुलाबी मशरूम के उपज के बारे में बताया जा रहा है। विश्वविद्यालय में 25 लोगों का समूह बनाया गया है जिसमें हर समय को अलग-अलग प्रकार के उत्पाद के बारे में जानकारी दी जा रही है । ऐसे में आत्मा के उप परियोजना निदेशक प्रभात कुमार सिंह ने बताया कि मशरूम शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसे हर घर तक पहुंचाने का प्रयास चल रहा है। इसी क्रम में 40 किसानों को राजेंद्र कृषि विश्वविद्यालय में ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है।

Most Popular