Homeबिहारबिहार के इन 14 जिलों में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की...

बिहार के इन 14 जिलों में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 90 फीसदी से अधिक

बिहार में कोरोना संक्रमित तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। राज्य में संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर में बढोतरी हुई है। साथ ही, जिलों में भी औसत से अधिक संक्रमित स्वस्थ हो रहे हैं। बिहार के 13 जिलों में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 90 फीसदी से भी अधिक हो गयी है। राज्य में औसत संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर बुधवार तक 88 फीसदी है। 

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बेगूसराय (90.45 फीसदी), बक्सर (91.86 फीसदी),  जहानाबाद (90.91 फीसदी), कैमूर (92.70 फीसदी), कटिहार (92.20 फीसदी), खगड़िया (94.67 फीसदी), लखीसराय (90 फीसदी), मुंगेर (90.64 फीसदी), नालंदा (91.76 फीसदी), नवादा (90.48 फीसदी),  रोहतास (91.41 फीसदी), शेखपुरा (91.97 फीसदी), सीतामढ़ी (90.44 फीसदी), वैशाली (90.86 फीसदी) की दसे मरीज स्वस्थ हो रहे हैं। 

मात्र दो जिलों की रिकवरी रेट 80 फीसदी से कम
राज्य के मात्र दो जिलों अररिया व किशनगंज में संक्रमित व्यक्तियों के स्वस्थ होने की दर 80 फीसदी से कम है। स्वास्थ्य विभाग के अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक अररिया में स्वस्थ होने की दर 77.16 फीसदी और किशनगंज में 78.00 फीसदी है। इन जिलों में हाल के दिनों में संक्रमितों की संख्या में बढोतरी हुई है। 

22 जिलों में 80 फीसदी से अधिक है स्वस्थ होने की दर 
राज्य के 38 में से 22 जिलों में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 80 फीसदी से अधिक है। इनमें अरवल (89.20 फीसदी), औरंगाबाद (89.61 फीसदी), बांका(87.41 फीसदी), भागलपुर (86.61 फीसदी), भोजपुर(89.17 फीसदी), दरभंगा(85.10 फीसदी) , गया (89.08 फीसदी), गोपालगंज (85.85 फीसदी), जमुई(89.85 फीसदी), मधेपुरा(84.40 फीसदी), मधुबनी(83.46 फीसदी), मुजफ्फरपुर (85.37 फीसदी), पश्चिमी चंपारण (87.16 फीसदी), पटना (89.07 फीसदी), पूर्वी चंपारण (86.31 फीसदी), पूर्णियां(84.38 फीसदी), सहरसा(84.90 फीसदी), समस्तीपुर (86.88 फीसदी), सारण (88.47 फीसदी), शिवहर (82.75 फीसदी), सीवान (89.98 फीसदी) व सुपौल  (84.11 फीसदी) शामिल हैं। 

Most Popular