Home बिहार पीएम मोदी बोले, नया बिहार गढ़ने में नीतीश कुमार की बड़ी भूमिका

पीएम मोदी बोले, नया बिहार गढ़ने में नीतीश कुमार की बड़ी भूमिका

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि आधुनिक बिहार को गढ़ने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बड़ी भूमिका है। कहा कि नए भारत, नए बिहार में सब कुछ तेजी से हो रहा है। इसी पहचान व कार्यसंस्कृति को हमें और मजबूत करना है। निश्चित तौर पर इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भी बहुत बड़ी भूमिका है।

रविवार को पेट्रोलियम मंत्रालय की 901 करोड़ की तीन योजनाओं का शुभारम्भ करते हुए पीएम ने मुख्यमंत्री के कामकाज की जमकर तारीफ की। कहा कि पिछले 15 सालों में बिहार ने यह दिखाया है कि अगर सही सरकार हो, सही फैसले लिए जाएं, स्पष्ट नीति हो तो विकास होता है और हर एक तक पहुंचता भी है। नीतीश सरकार में खुले संस्थानों का जिक्र करते हुए कहा कि आज बिहार में शिक्षा के बड़े-बड़े केंद्र खुल रहे हैं। अब एग्रीकल्चर कॉलेज, मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या बढ़ रही है। अब राज्य में आईआईटी, आईआईएम जैसे संस्थान बिहार के नौजवानों के सपनों को ऊंची उड़ान देने में मदद कर रहे हैं।

पीएम ने कहा कि नीतीश सरकार के दौरान ही बिहार में दो केंद्रीय विश्वविद्यालय, एक आईआईटी, एक आईआईएम, एक निफ्ट, एक नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट जैसे अनेकों बड़े संस्थान खुले हैं। नीतीश कुमार के प्रयासों के चलते आज बिहार में पॉलिटेक्निक संस्थानों की संख्या भी पहले के मुकाबले तीन गुना से ज्यादा हो गई है।

बिजली आती तो बहुत माना जाता था
उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार के पहले बिहार में बिजली की क्या स्थिति थी, ये जगजाहिर है। गांवों में दो-तीन घंटे बिजली आ जाती थी तो बहुत माना जाता था। शहर में रहने वाले लोगों को भी 8-10 घंटे से अधिक बिजली नहीं मिलती थी। आज बिहार के गांवों में, शहरों में बिजली की उपलब्धता पहले के मुकाबले कहीं ज्यादा हुई है।   

प्रतिभा का पावर हाउस है बिहार 
प्रधानमंत्री ने बिहारी प्रतिभा और नौजवानों की जमकर तारीफ की। कहा कि जब मैं कहता हूं कि बिहार देश की प्रतिभा का पावरहाउस है, ऊर्जा केंद्र है तो ये कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। बिहार के युवाओं की, यहां की प्रतिभा का प्रभाव सब जगह है। भारत सरकार में भी बिहार के ऐसे कितने ही बेटे-बेटियां हैं जो देश की सेवा कर रहे हैं। दूसरों के जीवन में सकारात्मक बदलाव ला रहे हैं। आप किसी भी आईआईटी में चले जाइए, वहां बिहार की चमक दिखेगी। किसी और संस्थान में भी जाएं तो आंखों में बड़े-बड़े सपने लिए और देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा लिए बिहार के बेटे और बेटियां सब जगह कुछ न कुछ हटकर कर रहे हैं।

खेती का काम गौरव का पर मौका नहीं देना नाइंसाफी
प्रधानमंत्री ने कहा कि खेती-किसानी बहुत परिश्रम और गौरव का काम है। लेकिन युवाओं को दूसरे मौके न देना, न ऐसी व्यवस्थाएं बनाना, ये भी तो सही नहीं था। बिहारी श्रम की तारीफ करते हुए कहा कि बिहार की कला, संगीत, स्वादिष्ट खाना, इसकी तारीफ देश भर में होती है। लेकिन आप किसी दूसरे राज्य में भी चले जाइए, बिहार की ताकत, बिहार के श्रम की छाप हर राज्य के विकास में दिखेगी। स्टार्ट अप इंडिया, मुद्रा योजना, ऐसी योजनाओं ने बिहार के नौजवानों को स्वरोजगार के लिए जरूरी राशि मुहैया कराई है। सरकार का प्रयास है कि जिला स्तर पर कौशल केंद्रों के माध्यम से बिहार के नौजवानों को स्किल बढ़ाने की ट्रेनिंग दी जा सके।

Most Popular