Home देश पीएम मोदी ने की UP में प्रवासी मजदूरों की वापसी और कोविड...

पीएम मोदी ने की UP में प्रवासी मजदूरों की वापसी और कोविड टेस्टिंग को लेकर सीएम योगी की सराहना

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड-19 (COVID-19) के सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सहित 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों (Chief Ministers) के साथ संवाद किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कोरोना संकट के दौरान टेस्टिंग की सुविधाएं बढ़ाने और घर लौटने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए व्यवस्था करने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और यूपी सरकार की सराहना की.

आर्थिक मोर्चे पर भी हमें पूरी ताकत से आगे बढ़ना है

पीएम मोदी ने कहा कि संयम, संवेदना, संवाद और सहयोग का जो प्रदर्शन कोरोना काल में देश ने दिखाया, उसको हमें आगे भी जारी रखना है. प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के विरुद्ध लड़ाई के साथ-साथ अब आर्थिक मोर्चे पर भी हमें पूरी ताकत से आगे बढ़ना है. पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश राज्य की सरकार ने कोविड-19 नियंत्रण के सम्बन्ध में प्रशंसनीय कार्य किया. प्रतिदिन डेढ़ लाख की टेस्टिंग व्यापक स्तर पर की जा रही है. उन्होंने कहा कि कोरोना काल में यूपी में सबसे अधिक श्रमिक वापस आए हैं, जिनके सम्बन्ध में सराहनीय कार्य किए गए.

यूपी में अब तक पूर्ण उपचारित मरीजों की संख्या 3,02,689: सीएम योगीइस दौरान सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के कुशल नेतृत्व व मार्गदर्शन में राज्य में कोविड-19  के विरुद्ध प्रभावी और मजबूती से लड़ाई लड़ी जा रही है. यूपी में अब तक पूर्ण उपचारित मरीजों की संख्या 3,02,689 है. प्रत्येक जनपद में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर स्थापित कर प्रबन्धन की कार्यवाही संचालित की जा रही है. निरन्तर सर्विलांस के लिए प्रदेश के 70 हजार से अधिक निगरानी टीमों का गठन किया गया है. निजी और सरकारी अस्पतालों तथा कार्यालयों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किए गए हैं. रोजना लगभग डेढ़ लाख टेस्टिंग की जा रही है, जिसमें से 50 हजार टेस्टिंग आरटीपीसीआर के माध्यम से हो रही है.

एमएसएमई के तहत 8,18,114 इकाइयों में 51.78 लाख श्रमिक कार्यरत

सीएम योगी ने बताया कि कोविड महामारी के दौरान इंसेफेलाइटिस व अन्य संचारी और वेक्टर जनित रोगों पर भी नियंत्रण राज्य सरकार द्वारा किया गया. एमएसएमई के तहत 8,18,114 इकाइयों में 51.78 लाख श्रमिक कार्यरत हैं. आत्मनिर्भर पैकेज के तहत 4.32 लाख इकाइयों को 10,437 करोड़ रुपये का ऋण स्वीकृत कर वितरण किया गया. आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार/स्वरोजगार सृजन अभियान के तहत 3.72 लाख नई एमएसएमई इकाइयों को 13,383 करोड़ रुपये का ऋण स्वीकृत किया गया है.

Most Popular