Homeझारखंडपढ़ाई में जीरो थे इशान किशन, किया कई संघर्ष, जाने कैसे पटना...

पढ़ाई में जीरो थे इशान किशन, किया कई संघर्ष, जाने कैसे पटना का लड़का बना इंटरनेशनल क्रिकेटर

इशान किशन इंटरनेशनल प्लेयर बन गए हैं और लोग उन्हें नेक्स्ट धोनी के नाम से भी बुलाते हैं. आपको बता दें कि इंटरनेशनल क्रिकेट के साथ-साथ घरेलू क्रिकेट और रणजी ट्रॉफी में ईशान किशन ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है.

लेकिन यहां तक पहुंचना ईशान किशन के लिए बहुत ज्यादा आसान नहीं था क्योंकि यहां तक पहुंचने के लिए इशान किशन ने काफी संघर्ष किए हैं.

आपको बता दें कि ईशान किशन का पढ़ने में बिल्कुल भी मन नहीं लगता था जिसके कारण उनकी मां हमेशा परेशान रहते थे. ईशान किशन की मां उन्हें डॉक्टर बनाना चाहती थी लेकिन उनका मन हमेशा से क्रिकेटर बनना था.

बिहार पटना के रहने वाले ईशान किशन का इतना लंबा सफर तय करना बहुत आसान नहीं था. इस सफर को तय करने में इंसान के सामने काफी सारे संघर्ष किए हैं.

ईशान किशन की ज़िन्दगी से जुड़े कई किस्से दिलचस्प हैं. कहते हैं वो बचपन में बैट-बॉल अपने साथ लेकर सोते थे. क्रिकेट के जुनून की वजह से उन्हें स्कूल से भी निकाल दिया गया था. आज ईशान अपनी मेहनत के दम पर शानदार क्रिकेटर्स में शुमार हैं. क्रिकेट जगत में उनका नाम एक चमकते सितारे की तरह है. वो अपने लंबे-लंबे छक्कों से क्रिकेट फैन्स का दिल जीतने के लिए भी जाने जाते हैं.

बिहार के पटना में 18 जुलाई 1998 को ईशान किशन का जन्म हुआ. इनके पिता प्रणव पाण्डेय एक बिल्डर हैं. ईशान के बड़े भाई राज किशन भी स्टेट लेवल पर क्रिकेट खेल चुके हैं. वहीं ईशान को बचपन से ही क्रिकेट में बड़ी दिलचस्पी थी. जब भी उन्हें थोड़ा समय भी मिलता वो क्रिकेट खेलने चले जाते. उनके माता-पिता ने बेटे को बेहतर शिक्षा दिलाने के लिए पटना के सबसे बड़े स्कूल डीपीएस में दाखिला करवाया था

Most Popular