Home बिहार पटेढ़ी बेलसर में रघुवंश बाबू के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़,...

पटेढ़ी बेलसर में रघुवंश बाबू के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़, एक झलक पाने को दिखे बेताब

बेलसर में जैसे ही रघुवंश बाबू का पार्थिव शरीर पहुंचा वैसे ही सैकड़ों की भीड़ उनके अंतिम दर्शन के लिए उमड़ पड़ी। लोग हाथों में माला लिए उनके अंतिम दर्शन के लिए दौड़ पड़े। 

उनके हर चुनाव में साथ रहे पटेढ़ी गांव निवासी चन्देश्वर सिंह, विनय सिंह, बिरमा मठ निवासी एवं पुराने समाजवादी नेता रामसागर चौधरी, बेदौलिया के पवन सिंह, बेलसर के तारक राय, सोरहथा के शम्भू राम आदि अपने लोकप्रिय नेता के अंतिम दर्शन के लिए सुबह से ही खड़े थे। वहीं केपी मार्केट में जदयू के प्रखंड अध्यक्ष सह व्यापार मंडल के अध्यक्ष वीरेंद्र राय के नेतृत्व में दर्जनों कार्यकर्ता अपने लोकप्रिय नेता के अंतिम दर्शन के लिए खड़े थे तो वहीं चिन्तामनपुर फतेहपुर में पूर्व राजद के प्रखंड अध्यक्ष अपने लोगों के साथ खड़े होकर अपने नेता के अंतिम दर्शन को सड़क की ओर टकटकी लगाए खड़े थे। 

पटेढ़ी बेलसर से काफी गहरा रिश्ता था रघुवंश बाबू का
जब पहली बार 1996 में रघुवंश बाबू वैशाली से लोकसभा के उम्मीदवार बने थे तो उस वक्त पटेढ़ी भाई खां गांव निवासी एवं दिवंगत मुखिया गगनदेव प्रसाद सिंह के यहां पूरे चुनाव प्रचार के दौरान रुका करते थे। उनके बेटे चन्द्रेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि पिता जी के साथ साथ मेरे पूरे परिवार का उनसे गहरा लगाव था। उनके जाने के बाद हमलोग अनाथ महसूस कर रहे हैं। वहीं राजद के दिग्गज नेता रहे सोरहथा गांव निवासी स्व खखन राय के साथ भी उनके गहरे रिश्ते थे।

गगनदेव बाबू एवं खखन बाबू दोनों लोग ही जब जब वे वैशाली से चुनाव लड़े और जीते तब तब उनका पूरा चुनाव का कमान यहीं दोनों संभालते थे। हर चुनाव में इनका चुनाव कार्यालय बेलसर बाजार पर जरूर होता था। 1996 से 2019 तक हुए लोकसभा चुनाव में वे लालू प्रसाद के पार्टी से चुनाव लड़े तब तब बेलसर बाजार जरूर उनका मुख्य चुनावी केंद्र बनाता था। और रघुवंश बाबू जरूर कहीं न कहीं से चुनाव प्रचार कर एक बार जरूर बेलसर अपने चुनाव कार्यालय में आते थे। वे यहां अपने समर्थकों को नाम से पुकारते थे।
 

Most Popular