दूसरे राज्यों से परीक्षा देकर झारखंड लौटने वाले छात्रों को होम क्वारंटाइन से मिली छूट 

दूसरे राज्यों से परीक्षा देकर झारखंड लौटने वाले छात्रों को होम क्वारंटाइन से मिली छूट 

सरकार ने दूसरे राज्यों से परीक्षा देकर झारखंड लौटने वाले छात्रों को 14 दिन के होम क्वारंटाइन से छूट दी है। परीक्षार्थियों को क्वारंटाइन की शर्तों में छूट दी गई है। 

इस संबंध में बीते शुक्रवार को ही सरकार की ओर से आदेश जारी किया गया था। सोशल मीडिया पर ऐसे कई सवाल छात्रों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से किए थे। जिसके बाद कोरंटाइन नियमों में छूट की बात कही गई थी। 

ज्ञात है कि प्रतियोगी परीक्षाएं शुरू हो गई हैं। झारखंड में पड़ोसी राज्यों बिहार, पश्चिम बंगाल, ओड़िशा से काफी छात्र परीक्षा देने आते हैं और इन राज्यों में भी झारखंड से काफी संख्या में छात्र जाते हैं। 

बॉर्डर क्षेत्र में ऐसे काफी छात्र रहते हैं। झारखंड सरकार ने परीक्षा दे रहे छात्रों को किसी तरह की असुविधा न हो, इसको ध्यान में रखते हुए बस संचालन से लेकर होटल, धर्मशाला, गेस्ट हाउस, रेस्तरां में बैठकर खाने आदि की छूट दे दी है। हालांकि ये छूट केवल छात्रों के लिए नहीं बल्कि आम लोगों के लिए भी समान रूप से दी गई है। दूसरी ओर, छात्रों को कंटेनमेंट जोन से निकल कर परीक्षा देने के लिए उनके एडमिट कार्ड को पास के रूप में उपयोग की अनुमति अलग से दी है। 

आपदा प्रबंधन प्रभाग ने भी स्पष्ट किया : आपदा प्रबंधन प्रभाग के सचिव डॉ अमिताभ कौशल ने स्पष्ट किया है कि परीक्षार्थियों के लिए कोरंटाइन नियमों से छूट लागू है। इसमें संशय नहीं है। दूसरे राज्य से झारखंड आकर और झारखंड से दूसरे राज्यों में जाकर परीक्षा देने वाले छात्रों को होम कोरंटाइन से छूट दी गई है। यह व्यवस्था झारखंड की सीमा के अंतर्गत है।