दुमका: 10 लाख लेकर बैंक मैनेजर फरार, एक करोड़ की हेराफेरी की आशंका 

                 10

एसबीआई की शिकारीपाड़ा शाखा के प्रबंधक मनोज कुमार बड़ी राशि की हेराफेरी कर फरार हो गए हैं। वह 10.50 लाख रुपए नगद लेकर शुक्रवार को बैंक से चले गए। एक करोड़ रुपए से अधिक की हेरा‌फेरी किए जाने की आशंका है। रिजनल बिजनेस ऑफिस (आरबीओ) गोड्डा के क्षेत्रीय प्रबंधक के निर्देश पर बैंक अधिकारियों की जांच टीम देर शाम तक एसबीआई की शिकारीपाड़ा शाखा में जमी हुई थी। 

आरबीओ गोड्डा के क्षेत्रीय प्रबंधक राजीव कुमार वर्मा ने बताया कि आरंभिक जांच में शाखा प्रबंधक द्वारा बैंक का 10.50 लाख रुपए लेकर लापता हो जाने का मामला सामने आया है। अभी जांच चल रही है। पूरी पड़ताल के बाद ही यह कहा जा सकता है कि कितने रुपए की हेराफेरी है। इधर, शिकारीपाड़ा के प्रखंड के पलासी पंचायत के राजबांध गांव के पिंटू दत्ता ने शिकारीपाड़ा थाना में लिखित शिकायत कर अपने खाते से 86 लाख रुपए किसी दूसरे के खाता में ट्रांसफर किए जाने का आरोप लगाया है। इस मामले की भी बैंक की जांच टीम जांच कर रही है। इस मामले में शुक्रवार को रात 9 बजे तक प्राथिमिकी दर्ज नहीं की गई थी। जांच करने पहुंची टीम के अधिकारियों ने बताया कि अभी बैंक मैनेजर की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। 

डबल इंट्री वाउचर से हुई 86 लाख की हेराफेरी : बैंक ग्राहक पिंटू दत्ता ने पुलिस को जो लिखित शिकायत की है उसमें तीन बार में 86 लाख रुपए उसके खाते से गायब किए जाने का आरोप लगाया है। उसने पुलिस को शिकायत की है कि दो बार 27-27 लाख रुपए और एक बार 32 लाख रुपए का ट्रांसफर उनके खाता से दूसरे खाता में किया गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक डबल इंट्री वाउचर के आधार पर यह हेराफेरी बैंक मैनेजर ने की है। ग्राहक पिंटू दत्ता ने गुरुवार को ही पुलिस में शिकायत की थी।

एसपी दुमका अंबर लकड़ा ने कहा कि एसबीआई के शिकारीपाड़ा बैंक में रुपयों की हेराफेरी होने की जांच एसबीआई के सीनियर अधिकारियों की टीम कर रही है। एसबीआई के सीनियर अधिकारी द्वारा इस मामले में जो रिपोर्ट थाना को की जाएगी,उसके आधार पर प्राथमिकी दर्ज होगी।’’

आरबीओ गोड्डा के क्षेत्रीय प्रबंधक राजीव कुमार वर्मा ने कहा कि शिकारीपाड़ा एसबीआई का ब्रांच मैनेजर मनोज कुमार 10.50 लाख लेकर फरार है। जांच टीम शिकारीपाड़ा भेजी गई है। जांच के बाद ही यह पता चल सकेगा कि बैंक मैनेजर ने कितने रुपए की हेराफेरी की है।