Home देश ‘दीनदयाल जयंती’ पर भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे PM मोदी

‘दीनदयाल जयंती’ पर भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे PM मोदी

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) शुक्रवार को भारतीय जनसंघ (Bharatiya Jansangh) के अध्यक्ष पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती (Pt. Deen Dayal Upadhyay Jayanti) के मौके पर भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. ट्विटर पर इसकी घोषणा करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के आदर्श हमें गरीबों की सेवा करने और उनके जीवन में सकारात्मक बदलाव सुनिश्चित करने की प्रेरणा देते हैं. उनकी जयंती पर कल 25 सितंबर की सुबह 11 बजे देश भर के भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करूंगा.’’

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मथुरा (Mathura) जिले के नगला चंद्रभान गांव (Nagla Chandrabhan Village) में 25 सितंबर 1916 को जन्में उपाध्याय को भाजपा की राजनीतिक विचारधारा का सूत्रधार भी कहा जाता है. वहीं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (BJP Chief Jagat Prakash Nadda) शुक्रवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय के 104वें जयंती समारोह को वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए संबोधित करेंगे. समारोह धानक्या रेलवे स्टेशन स्थित राष्ट्रीय स्मारक स्थल पर आयोजित होगा. शाम पांच बजे शुरू होने वाले समारोह का विश्व संवाद केन्द्र समेत विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर सीधा प्रसारण किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- सैनिकों का पीछे हटना एक जटिल प्रक्रिया- सीमा विवाद पर बोला विदेश मंत्रालय

ये केंद्रीय मंत्री भी होंगे शामिलपंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति समारोह समिति के अध्यक्ष प्रो. मोहनलाल छींपा ने बताया कि समारोह के विशिष्ट अतिथि भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी. सतीश होंगे और अध्यक्षता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र कार्यवाह हनुमानसिंह करेंगे. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के साथ केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल और कैलाश चौधरी भी उपस्थित रहेंगे. वहीं धानक्या स्मारक स्थल पर भी प्रतीकात्मक कार्यक्रम आयोजित होगा.

संघ की शिक्षा के प्रशिक्षण के बाद बने प्रचारक
जाने-माने विचारक, दार्शनिक और भारतीय जनसंघ के सह-संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्म 25 सितम्बर, 1916 को मथुरा में हुआ था. पंडित दीनदयाल उपाध्याय जब अपनी स्नातक स्तर की शिक्षा हासिल कर रहे थे, उसी वक्त वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के संपर्क में आये और वह आरएसएस के प्रचारक बन गये.

हालांकि प्रचारक बनने से पहले उन्होंने 1939 और 1942 में संघ की शिक्षा का प्रशिक्षण लिया था और इस प्रशिक्षण के बाद ही उन्हें प्रचारक बनाया गया था. वर्ष 1951 में भारतीय जनसंघ की नींव रखी गई थी और इस पार्टी को बनाने का पूरा कार्य उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के साथ मिलकर किया था.

Most Popular