तिरहुत रेंज के आईजी की जांच से हुआ खुलासा : मुहर्रम की ड्यूटी को लेकर दोनों प्रशिक्षु महिला दारोगा के बीच हुआ था विवाद

तिरहुत रेंज के आईजी की जांच से हुआ खुलासा : मुहर्रम की ड्यूटी को लेकर दोनों प्रशिक्षु महिला दारोगा के बीच हुआ था विवाद

फकुली ओपी में प्रशिक्षु महिला दारोगा कविता कुमारी के साथ दुर्व्यवहार व मारपीट की घटना की जांच बुधवार को भी हुई। इस बार तिरहुत रेंज के आईजी गणेश कुमार ने फकुली ओपी जाकर जांच की। उन्होंने ओपी प्रभारी, पीड़ित प्रशिक्ष्रु दारोगा व एक अन्य  प्रशिक्षु महिला दारोगा से गहन पूछताछ की। इनका बयान भी दर्ज किया। आईजी के साथ महिला थाने की थानेदार नीरु कुमारी भी थीं। पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई गई।
इस दौरान फकुली ओपी प्रभारी उदय कुमार सिंह, प्रशिक्षु दारोगा कविता कुमार व प्रशिक्षु दारोगा रितूराज जायसवाल ने अपना-अपना पक्ष रखा। आईजी से समक्ष साक्ष्य प्रस्तुत किए। आईजी ने रिपोर्ट मुख्यालय भेज दी है। फिलहाल आईजी के निर्देश पर दोनों प्रशिक्षु दारोगा को फकुली ओपी से हटा दिया गया है। प्रशिक्षु दारोगा कविता कुमारी को एसडीपीओ सरैया व रितूराज जायसवाल को पुलिस लाइन में तैनात कर दिया है। जांच में यह बात सामने आई है कि मुहर्रम की ड्यूटी को लेकर दोनों प्रशिक्षु महिला दारोगा के बीच विवाद हुआ था।

किशनगंज में कराया था कोरोना का इलाज
जांच के दौरान तथ्य आया कि कविता कोरोना संक्रमित हो गई थी। इनका ससुराल हाजीपुर में है, लेकिन सास किशनगंज में स्वास्थ्य विभाग में एसीएमओ है। इस वजह से कविता का इलाज किशनगंज में कराया गया था। कविता से पहले उसके पति मणिकृष्ण यादव भी कोरोना संक्रमित हो गए थे। जांच के दौरान आईजी को किशनगंज के डॉक्टर का प्रमाण पत्र भी सौंपा। आईजी ने बताया कि प्रमाण पत्र की भी जांच कराई जाएगी।

जांच के दौरान पाया गया कि दोनों प्रशिक्षु दारोगा के बीच मुहर्रम की ड्यूटी को लेकर विवाद हुआ था। इस दौरान दोनों के बीच धक्का-मुक्की हुई। कविता कुमारी की ओर से लगाए गए गंभीर आरोपों के संदर्भ में ठोस प्रमाण नहीं मिले हैं। जांच रिपोर्ट भेज दी गई है। मुख्यालय के निर्देश पर आगे की कार्रवाई होगी।
-गणेश कुमार, रेंज आईजी