Homeमनोरंजनतालिबान ने लड़कियों की शिक्षा पर लगाया बैन तो भारतीय मुस्लिम...

तालिबान ने लड़कियों की शिक्षा पर लगाया बैन तो भारतीय मुस्लिम गुरुओं पर भड़के जावेद अख्तर

जावेद अख्तर अपने ट्वीट्स को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। अब उन्होंने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और इस्लामिक गुरुओं पर अपना गुस्सा निकाला है। जावेद की नाराजगी इस बात पर है कि तालिबान ने मुस्लिम महिलाओं और लड़कियों की शिक्षा और नौकरी पर पाबंदी लगा दी है। इस पर भारत के मुस्लिम क्यों शांत हैं। जावेद ने सवाल किया है कि क्या वे भी तालिबान से सहमत हैं?

जावेद अख्तर ने किया यह ट्वीट
जावेद अख्तर ने ट्वीट किया है, तालिबान ने सभी महिलाओं और लड़कियों के स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटीज  और जॉब्स पर इस्लाम के नाम पर बैन लगा दिया है। भारतीय मुस्लिम पर्सनल बोर्ड और दूरे इस्लामिक गुरु इस बात की निंदा क्यों नहीं करते। क्या वे तालिबानियों से सहमत हैं?

ट्वीट पर आए रिएक्शंस
कुछ लोगों ने जावेद अख्तर की बात से सहमति जताई है वहीं कुछ लोग उनकी आलोचना कर रहे हैं। एक ट्विटर यूजर ने दिल्ली के इस्लामिक गुरु का बयान पोस्ट करके लिखा है कि जावेद अख्तर को झूठे रिमार्क नहीं देने चाहिए। तालिबान के इस फरमान का दिल्ली के एक धार्मिक गुरु ने विरोध किया था। वहीं एक और ने लिखा है, सर आप भारत के हालात पर कुछ बोलिये। मुस्लिम की नहीं मेजोरिटी के अत्याचार पर कुछ कहिए।

पूरी दुनिया में हो रहा है विरोध
बता दें कि अफगानिस्तान में लड़कियों की शिक्षा और नौकरी बैन करने के फैसले का विरोध पूरी दुनिया में किया जा रहा है। भारत में भी मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स ने इस पर बोला था। MEA स्पोक्स पर्सन अरिंदम बागची ने कहा था, हमने इस मामले को गंभीरता से लिया है। भारत ने हमेशा अफगानिस्तान में महिला शिक्षा का समर्थन किया है। इस प्रतिबंध के बाद अफगानिस्तान दुनिया का अकेला ऐसा देश होगा जहां लड़कियों और महिलाओं को शिक्षा और नौकरी से वंचित रखा जा रहा है।   

Most Popular