Home झारखंड झारखंड : कोडरमा के मंडल कारा के कोरोना पॉजिटिव कैदी आइसोलेशन वार्ड...

झारखंड : कोडरमा के मंडल कारा के कोरोना पॉजिटिव कैदी आइसोलेशन वार्ड से चकमा देकर फरार

सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मंडल कारा का कोरोना पॉजिटिव विचाराधीन कैदी 10 सितंबर की अहले सुबह करीब पांच बजे चकमा देकर फरार हो गया। इसके फरार होने की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन व स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया।
फरार हुआ कोरोना पॉजिटिव कैदी पड़ोसी जिले गिरिडीह के खारो थाना देवरी का रहने वाला है और वह 302 का आरोपित है। गिरिडीह जेल में क्षमता से अधिक कैदी होने पर उसे कोडरमा मंडल कारा में पिछले एक अप्रैल को लाया गया था, जहां वह पिछले लगभग चार माह से बंद था। लेकिन दो दिन पहले जांच में कोरोना पॉजिटिव मिलने व सांस की समस्या आने पर उसे नौ सितंबर को सदर अस्पातल के आइसोलेशन वार्ड में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। उसकी सुरक्षा के लिए एक एएसआई सुरेन्द्र कुमार की अगुआई में छह जवानों की तैनाती की गई थी पर कैदी  पुलिस को चकमा देते हुए वार्ड की खिड़की तोड़कर फरार होने में कामयाब हो गया। इधर, एसडीपीओ राजेंद्र प्रसाद के नेतृत्व में कोडरमा के इलाकों में उसे दबोचने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।
छापेमारी में कोडरमा थाना प्रभारी द्वारिका राम, नवलशाही अब्दुल्ला खान, पीएसआई अमित कुमार आदि शामिल हैं। एसडीपीओ के मुताबिक फरार कैदी शीघ्र ही पुलिस गिरफ्त में होगा। बताया जाता है कि कोरोना पॉजिटिव कैदी को आइसोलेशन वार्ड के बेड पर स्वास्थ्यकर्मी ने सुबह साढ़े तीन बजे तक राउंड उप में देखा था। लेकिन सुबह छह बजे जब स्वास्थ्य कर्मी दोबारा गए तो कैदी अपने बेड पर नहीं था और वह फरार हो चुका था। आनन-फानन में उसे ढूंढ़ा गया लेकिन वह कहीं नहीं मिला। अस्पताल प्रबंधन ने मामले को लेकर पुलिस कप्तान को लिखित जानकारी दे दी है। मामले में आइसोलेशन नोडल पदाधिकारी डॉ.शरद कुमार ने घटना की जानकारी  देते हुए बताया कि साढ़े तीन बजे तक कैदी मरीज अपने बेड पर सो रहे थे। लेकिन छह बजे एएनएम राउंड पर गई तो उसे नहीं देखा गया। इसके बाद खोजबीन की गई लेकिन वह नहीं मिला। डीएस डॉ.रंजन कुमार ने बताया कि दो कैदी को गुरुवार पांच बजे आइसोलेशन में भर्ती कराने की बात कही,जिसमें एक कैदी फरार हो गया। खोजबीन में नहीं मिलने पर डीसी, एसपी, थाना व मंडल कारा को सूचना दे दी गई। कैदी का ससुराल नवलशाही बताया जाता है।
पुलिस प्रशासन व कोर्ट से ऑर्डर लेने के बाद कैदी को भर्ती कराया गया था : जेलर
जेलर अभिषेक सिंह बताते हैं कि फरार कैदी अप्रैल माह में गिरिडीह जेल से मंडल कारा कोडरमा पहुंचा था। उनहोंने बताया कि जिला पुलिस प्रशासन और कोर्ट से ऑर्डर लेने के बाद उसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया कराया गया था और छह जवान तैनात किए गए थे। उन्होंने बताया कि फरार कैदी हत्याकांड का आरोपित है।

Most Popular