झारखंड में जल्द बनेगा राज्य का तीसरा क्रिकेट स्टेडियम, जानिए किस ज़िला में और क्या होगी सुविधाए

बोकारो में राज्य का तीसरा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बनाये जाने का सपना जल्द ही साकार होता दिख रहा है, क्योंकि स्टेडियम के लिए जमीन की अड़चन अब दूरी हो गयी है. अगले 10 दिनों में सभी प्रक्रियाएं पूरी कर ली जायेंगी. रविवार को जेएससीए की टीम ने बोकारो के बलीडीह में प्रस्तावित क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण को लेकर चिन्हित भूमि का निरीक्षण किया.

इस दौरान जेएससीए के पूर्व अध्यक्ष अमिताभ चौधरी, उपाध्यक्ष अजय नाथ शाहदेव, सचिव संजय सहाय, विधायक बिरंची नारायण आदि मौजूद थे. दिल्ली के कोठारी एसोसिएट्स के दो आर्किटेक्ट भी मौजूद थे. निरीक्षण के बाद जेएससीए के पदाधिकारियों ने बोकारो स्टील प्लांट के डायरेक्टर इंचार्ज अमरेंद्रु प्रकाश के साथ बैठक की. बीएसएल ने जेएससीए को भूमि अलॉटमेंट के लिए सेल की शर्तों की कॉपी सौंपी.

जेएससीए उस कॉपी के आधार पर तीन दिनों के भीतर अपनी सहमति देगा, जिसे सेल मुख्यालय भेजा जायेगा. उसके बाद जेएससीए भूमि का पैसा जमा करेगा, फिर आगे की प्रक्रिया होगी. अमिताभ चौधरी ने कहा : बीसीसीआइ ने क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण के लिए 250 करोड़ रुपये की मंजूरी दे दी है.

जल्दी ही सारी प्रक्रिया पूरी कर स्टेडियम का निर्माण किया जायेगा. उन्होंने कहा : चिन्हित भूमि बीएसएल की है. आज की बैठक में कई सकारात्मक बातें हुई हैं. बीएसएल का सहयोग मिल रहा है. कई दौर की वार्ता पहले भी हुई है. 10 दिनों में अच्छे परिणाम दिखने की उम्मीद है.

सेल प्रबंधन ने रखी शर्त

  • सेल के नाम पर स्टेडियम का नामकरण होना चाहिए.
  • बोकारो स्टील के अधिकारी व कर्मचारी को मैच में पास मिले.
  • मैच से होनेवाली आय में बोकारो स्टील को भी हिस्सा मिलना चाहिए.
  • बोकारो के आम लोगों को भी स्टेडियम में सुविधा मिलनी चाहिए.
  • अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम व एयरपोर्ट जैसी सुविधाओं के धरातल पर उतरने से बोकारोवासियों का सपना साकार होगा.

बिरंची नारायण, विधायक बोकारो

2016 से चल रहा है जमीन आवंटन का मामला

बोकारो में क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण के लिए जमीन आवंटन का मामला 2016 से चल रहा है. उस वक्त जिला प्रशासन ने सतनपुर पंचायत में जमीन का प्रस्ताव दिया था, लेकिन वन भूमि के कारण जमीन का आवंटन नहीं हुआ. बाद में, 2019 में विधायक बिरंची नारायण ने बीएसएल से भूमि प्रदान करने का अनुरोध किया. 2020 में कोरोना महामारी के कारण भूमि आवंटन की प्रक्रिया में देरी हो गयी. अब जमीन आवंटन का पेंच लगभग खत्म हो गया है.

जेएससीए स्टेडियम जैसी होगी सुविधाएं

अमिताभ चौधरी ने बताया कि इस स्टेडियम की क्षमता रांची के स्टेडियम जैसे ही 40 हजार दर्शकों की होगी. इसमें वह सारी सुविधाएं होंगी, जो रांची के स्टेडियम में है. स्टेडियम आने से बोकारो क्रिकेट के विश्व मानचित्र पर दिखाई देगा. झारखंड में रांची और जमशेदपुर के बाद यह तीसरा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम होगा.