जेईई एडवांस : परीक्षा केंद्र पर एडमिट कार्ड की जांच बार कोड स्कैनर से

jee advace 2020

जेईई एडवांस 27 सितंबर को है। इसके आयोजन को लेकर सभी 23 आईआईटी ने मिलकर कुछ दिन पहले बैठक की थी। परीक्षा के लिए विशेष एसओपी बन रही है। परीक्षा केंद्र पर एडमिट कार्ड की जांच बार कोड स्कैनर से होगी। स्क्रीन पर छात्र की सारी जानकारी जांच अधिकारी के सामने होगी। यदि कोई छात्र परीक्षा केंद्र में कोविड-19 के नियमों का पालन नहीं करता है तो उसे परीक्षा से बाहर कर दिया जाएगा। यदि किसी छात्र में कोविड-19 के लक्षण दिखता है तो उसे आइसोलेशन कमरे में बैठाया जायेगा। वहीं वह परीक्षा देगा। परीक्षा का आयोजन आईआईटी दिल्ली कर रहा है।केंद्र में एक छात्र से दूसरे छात्र के बीच छह फीट की दूरी को बनाये रखने के लिए बीच में दो कंप्यूटर खाली रहेंगे। परीक्षा में दोनों पेपर से पहले बैठने वाले एरिया, कुर्सी, टेबल, मॉनिटर, की-बोड, माउस, डेस्ट आदि से लेकर दरवाजे, हैंडल, व्हीलचेयर(दिव्यांग छात्रों के लिए) आदि को सेनेटाइज किया जायेगा। 

तैयारी के लिए समय बहुत कम : इस परीक्षा की तैयारी के लिए इस बार छात्रों को सिर्फ 15 दिनों का समय मिलेगा। जेईई मेन 6 सितंबर तक होगी। इसका रिजल्ट 10 सितंबर को घोषित होगा। जेईई एडवांस के लिए रजिस्ट्रेशन 11 सितंबर से 17 सितंबर तक होगा। इसका एडमिट कार्ड 20 सितंबर को जारी होगा। जेईई एडवांस में जेईई मेन के रैंक के आधार ढाई लाख छात्रों को बैठने का मौका मिलेगा।