छात्रों का आंदोलन: रेलवे ने आखिरकार जल्द ही लंबित परीक्षाओं का शेड्यूल जारी करने की घोषणा की

battery-powered shunting rail engine made in kanpur

देशभर के छात्रों की एकजुटता रंग ला रही है। छात्रों के आंदोलन की एकबार फिर जीत हुई। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने रेलवे की लंबित तीन परीक्षाओं का जल्द शिड्यल जारी करने की घोषणा कर दी है।

 उन्होंने बताया कि एनटीपीसी की परीक्षा 15 दिसंबर से संभावित है। इसके अलावा ग्रुप डी और नॉन टेक्निकल पापुलर की परीक्षाएं भी जल्द ली जाएगी। कोरोना की वजह से परीक्षा नहीं हो पा रही है। उन्होंने बताया कि तीन परीक्षाओं के लिए एक लाख 40 हजार 640 पद हैं। इन तीनों परीक्षाओं के लिए लगभग दो करोड़ 42 लाख परीक्षार्थियों ने आवेदन किया है। उन्होंने बताया कि सारी परीक्षाएं कंप्यूटर बेस्ड ली जाएगी। इसकी तैयारी की जा रही है। हालांकि जानकारी के अनुसार अभी तक परीक्षा लेने वाली एजेंसी तय नहीं हुई है। उम्मीद है कि दो महीनों के अंदर ये प्रक्रियाएं पूरी कर ली जाएगी। 

 इधर, छात्रों की ओर ट्वीटर पर रेलवे परीक्षा को इतना ट्रेंड करा दिया रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को खुद परीक्षा संबंधित जानकारी देनी पड़ी। हालांकि ट्वीटर पर चल रहे आंदोलन में छात्रों का कहना है कि जबतक शिड्यूल जारी नहीं हो जाता है। आंदोलन जारी रहेगा। रेलवे ने दो साल पहले विज्ञापन निकाल कर अभी तक परीक्षा नहीं ली है। रेलवे ने स्नातक स्तरीय एनटीपीसी का फॉर्म 2018 में ही निकाला था। इसमें लगभग 34,240 पद हैं। वहीं ग्रुप डी के लिए एक लाख दस हजार सहित अन्य पदों के लिए विज्ञापन निकाला गया था। छात्रों से पांच-पांच सौ रुपये आवेदन के नाम पर वसूल किये गए। छात्रों का कहना था कि इन दो सालों में छात्रों के पैसा से रेलवे ने सूद के तौर पर अरबों रुपये कमाकर रख लिया। छात्रों के इस आंदोलन में शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। सभी बड़े कोचिंग संचालक आंदोलन में शामिल हैं।