कटिहार में सिकमी जमीन को लेकर आदिवासियों ने किया पुलिस थाने का घेराव, सड़क जाम

protest and road jam of tribals community against police due to capture of sikami land of tribals in

कटिहार में आदिवासियों की सिकमी जमीन को सांठ गांठ कर जमींदार को देने और आदिवासियों को जमीन से बेदखल करने को लेकर आदिवासी समुदाय का गुस्सा भड़का। मामला डंडखोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत रायपुर पंचायत के गांव का है। 

आदिवासी समुदाय ने डंडखोरा पुलिस थाना का घेराव किया और थाने के सामने कटिहार -सनौली प्रधानमंत्री सड़क मार्ग को तीन घंटे तक जाम रखा। आदिवासी समुदाय की ओर से सड़क जाम की सूचना पर प्रखंड विकास पदाधिकारी अंतिमा कुमारी समेत अंचल पदाधिकारी शब्बीर अहमद अंसारी, हसनगंज थाना, मुफस्सिल थाना कटिहार की पुलिस डंडखोरा थाना पहुंचकर मामले को शांत करने का प्रयास किया। पुलिस  निरीक्षक ने आक्रोशित आदिवासियों से समस्याा से जुड़ी लिखित आवेदन लेकर जल्द कार्रवाई का भरोसा दिलाया। 

जानकारी के मुताबिक डंडखोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत रायपुर पंचायत के गांव  में मसोमात जनवतीय देवी के ससुर श्यामलाल उरांव के नाम से 18 डिसमिल जमीन का सिकमी पर्चा मिला हुआ है जिसमें वह खेती बाड़ी करती हैं। आदिवासी समुदाय का आरोप है कि मसोमात महिला घर में अकेली रहती है और पुलिस देर रात जाकर डराती धमकाती है। जमीन छोड़ने की धमकी देती है। 

आदिवासी समुदाय ने आरोप लगाया कि डंडखोरा पुलिस गलत मंशा से जमींदार के पक्ष में काम कर रही है। जमीन में कब्जे को लेकर जनवतीय  देवी की ओर से थाने में आवेदन दिया गया जिस पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। बल्कि पुलिस द्वारा उल्टे पीड़िता को डराया धमकाया जाता है।  आदिवासियों ने आरोप लगाया कि बबलू मिर्धा के केवाला जमीन पर जबरदस्ती मुन्ना खां द्वारा घर बनाया जा रहा है।  पुलिस को सूचना देने के बाद पुलिस कुछ भी नहीं कर रही है।