कंगना रनौत को मिला राष्ट्रीय महिला आयोग का साथ, शिवसेना विधायक को तुरंत गिरफ्तार करने को कहा

kangana ranaut vs sanjay raut

शिवसेना बनाम कंगना रनौत का मुद्दा लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। शिवसेना विधायक की ओर से कंगना को ‘मुंह तोड़ने’ की धमकी दिए जाने के बाद अब इस विवाद में राष्ट्रीय महिला आयोग की भी एंट्री हो गई है। कंगना को क्लीनचिट देते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक की तुरंत गिरफ्तारी होनी चाहिए। उन्होंने कंगना के खिलाफ हमलावर शिवसेना की विचारधारा पर भी सवाल उठाए।

रेखा शर्मा ने एएनआई न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा, ”कंगना के किसी भी ट्वीट में ऐसा नहीं लगा कि वो देशद्रोही हैं या किसी व्यक्ति को उन्होंने धमकी दी है। इससे शिवसेना के नेताओं की विचारधारा सामने आती है कि अगर महिलाएं आजादी से बात कर रही हैं, तो वो उन्हें सह नहीं सकते।”

यह भी पढ़ें: किसी के बाप का नहीं महाराष्ट्र… कंगना रनौत का संजय राउत पर पलटवार

इससे पहले एक ट्वीट में रेखा शर्मा ने कहा, ”एएनआई के मुताबिक, शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाईक ने एक इंटरव्यू में कंगना रनौत को धमकी दी है। सीपी मुंबई पुलिस उन्हें (विधायक) को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। इस मामले को स्वत: संज्ञान लिया है।” शिवसेना विधायक ने कहा है कि यदि कंगना मुंबई आती हैं तो शिवसेना की महिला कार्यकर्ता उसका मुंह तोड़ देंगी। सरनाईक ने ट्वीट में यह भी कहा कि मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से करने के लिए कंगना पर देशद्रोह का मामला दर्ज होना चाहिए।

दरअसल कंगना ने मुंबई शहर और पुलिस को लेकर हाल ही में टिप्पणियां की थीं, जिनको लेकर विवाद खड़ा हो गया है। कंगना ने कहा था कि उन्हें उन लोगों से अधिक मुंबई पुलिस से डर लगता है, जिन्हें वे मूवी माफिया कहती हैं। इस पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कथित तौर पर कंगना को कहा था कि अगर उन्हें मुंबई पुलिस से डर लगता है तो उन्हें यहां नहीं आना चाहिए।

कंगना ने राउत के इस बयान से जुड़ी एक खबर को टैग करते हुए ट्वीट किया था, ”मुंबई पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर क्यों लगने लगी है?” कंगना ने कहा था कि उन्हें ”बॉलीवुड में ड्रग माफिया” का पर्दाफाश करने के लिये हरियाणा या हिमाचल प्रदेश पुलिस की सुरक्षा चाहिए और वह मुंबई पुलिस की सुरक्षा स्वीकार नहीं करेंगी।

इसके बाद शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस कंगना पर हमलावर है। कई जगह शिवसैनिकों ने कंगना के खिलाफ प्रदर्शन किया तो शिवसेना नेता संजय राउत और महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कंगना को मुंबई या महाराष्ट्र नहीं आने की सलाह दी है। कंगना ने भी खुली चुनौती देते हुए कहा है कि वह 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं और किसी में हिम्मत है तो रोक ले।