कंगना रनौत के मुंबई लौटने पर शिवसेना नेता संजय राउत बोले- मेरे लिए विवाद खत्म, बीएमसी की कार्रवाई से लेनादेना नहीं

कंगना रनौत के मुंबई लौटने पर शिवसेना नेता संजय राउत बोले- मेरे लिए विवाद खत्म, बीएमसी की कार्रवाई से लेनादेना नहीं

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच जुबानी जंग जारी है। कंगना रनौत ने पिछले दिनों मुंबई पुलिस के लिए एक बयान जारी किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह मुंबई पुलिस से सेफ महसूस नहीं करती हैं। इसके बाद संजय राउत ने उन्हें धमकी देते हुए कहा था कि कंगना को मुंबई वापस नहीं आना चाहिए। फिर कंगना ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से की थी। इसी के साथ बीएमसी ने एक्ट्रेस के ऑफिस पर अवैध निर्माण की कार्रवाई की और उसे बुलडोजर से तोड़ दिया। कंगना रनौत आज मुंबई पहुंचीं हैं। इसके बाद उन्होंने एक वीडियो जारी कर सीधा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चुनौती दे डाली है। 

अब टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक संजय राउत ने बयान में कहा है कि उन्होंने कभी कंगना रनौत को धमकी दी ही नहीं। मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से करने पर उन्होंने सिर्फ आपत्ति जताई थी। संजय राउत ने कहा, ‘कंगना, मुंबई में रह सकती हैं। मेरा बीएमसी की कार्रवाई में कोई लेनादेना नहीं है। मैंने कभी कंगना रनौत को धमकी नहीं दी। मैंने सिर्फ अपना गुस्सा जाहिर किया, वह भी उनके द्वारा दिए गए बयान पर। बीएमसी ने जो किया उसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं। मेरे लिए विवाद खत्म हो चुका है। कंगना का मुंबई में रहने के लिए स्वागत है।’

साल 2009 का रिया चक्रवर्ती का नारकोटिक ट्रैफिकिंग ट्वीट वायरल, ट्रोल्स बोले- पता था एकदिन ऐसा जरूर करके दिखाएगी

जेल पहुंचीं रिया चक्रवर्ती को निखिल द्विवेदी ने दिया ऑफर, बोले- जब ये सब खत्म हो जाएगा तो हम आपके साथ काम करना चाहेंगे

कंगना के दफ्तर के बाहर से जो तस्वीरें और वीडियो सामने आए, उसमें बड़ी संख्या में बीएमसी के कर्मचारी और पुलिस वाले दिखे थे। इस बीच कंगना रनौत ने बीएमसी की कार्रवाई के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, जहां से राहत मिली। अपने दफ्तर पर बीएमसी की कार्रवााई के खिलाफ कंगना के वकील ने हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी, जिसपर हाईकोर्ट ने कंगना के दफ्तर में तोड़फोड़ पर रोक लगा दी है और बीएमसी से जवाब मांगा है।