कंगना और अर्नब गोस्वामी के खिलाफ महाराष्ट्र विधान परिषद के अध्यक्ष ने विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव स्वीकार किया

कंगना रनौत ने 'मूवी माफिया' पर जमकर साधा निशाना, बोलीं- मेरा अंत ही मेरी शुरुआत है

मुंबई की तुलना पीओके से करने वाले बयान पर कंगना रनौत की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। उद्धव ठाकरे और मुबंई के ‘खिलाफ’ बोलने पर महाराष्ट्र विधान परिषद के अध्यक्ष रामराजे नाइक ने टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी और अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। कांग्रेस विधायक अशोक (भाई) जगताप ने मुंबई को लेकर अपमानजनक टिप्पणी के लिए कंगना रनौत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया, जिसे रामराजे नाइक ने स्वीकार किया। 

रामराजे नाइक ने कहा, ‘विशेषाधिकार के उल्लंघन के प्रस्ताव को स्वीकार किया है। इसके लिए गठित एक समिति की अनुपस्थिति में मैं आज (इस प्रस्ताव पर) फैसला करने जा रहा हूं।’

दरअसल, बीते दिनों कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी पीओके से की थी। कंगना ने ट्विटर पर लिखा था, ‘संजय राउत ने मुझे खुले में धमकी दी है और मुंबई नहीं आने को कहा है। मुंबई की गलियों में आजादी के भित्ति चित्रण और अब खुली धमकी, मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसी फ़ीलिंग क्यों दे रहा है?’

वहीं, टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लेकर अनुचित भाषा का इस्तेमाल किया था और टीवी डिबेट की खुली चुनौती दी थी।