एलआईसी के विनिवेशीकरण के विरोध में आंदोलन करेगा ऑल इंडिया इंश्योरेंस इम्पलॉयज एसोसिएशन

lic employees will be on 1 hour strike on february 4 against the proposal in the budget  file photo

भारतीय जीवन बीमा निगम(एलआईसी) के विनिवेशीकरण का विरोध हर स्तर पर किया जाएगा। पहले चरण में सांसदों को देश के इस प्रतिष्ठित संस्थान को बेचने से रोकने के लिए एकजुट किया जा रहा है। 

इसके बाद भी यदि सरकार ने एलआईसी का आईपीओ निकालने का प्रयास किया तो आम आदमी के साथ सड़क पर आंदोलन किया जाएगा। ये बातें बुधवार को ऑल इंडिया इंश्योरेंस इम्पलॉयज एसोसिएशन (एआईआईईए) के महासचिव श्रीकांत मिश्रा ने पटना प्रवास के दौरान पत्रकारों से कही। उन्होंने कहा कि एलआईसी को बेचने का लाभ मुट्ठी भर लोग ही लाभान्वित होंगे। एलआईसी का दस प्रतिशत विनिवेश करने के लिए आईपीओ लाया जाना है। आज की हालत में ऐसा करना संभव नहीं है। ऐसा हुआ तो शेयर बाजार क्रैश हो जाएगा। 

सांसद से जता रहे विरोध 
एआईआईईए महासचिव ने कहा कि एलआईसी यूनियन के अधिकारी सांसदों से मिलकर मेमोरेंडम देकर विनिवेशीकरण का विरोध जता रहे है। एलआईसी विनिवेशीकरण के लिए कोई कदम संसद में उठाया गया तो उसके ठीक दूसरे दिन एलआईसी कर्मचारी, अधिकारी एक दिन का सांकेतिक हड़ताल करेंगे। इसके बाद एलआईसी पॉलिसी होल्डर को साथ लेकर सड़क पर आंदोलन करेंगे। एलआईसी के विनिवेशीकरण का प्रयास बीते 30 सालों से चल रहा है। सबसे पहले 1991 में इस संगठन के विनिवेशीकरण का प्रयास किया गया था। लेकिन इसमें पहले भी सफलता नहीं मिली थी अब भी नहीं मिलेगी।