उत्तर बिहार के तीन मेडिकल कॉलेज में हर दिन 2325 सैंपलों की होगी जांच

corona infection area shrinking in india active cases of covid19 reduced in 16 states and ut

उत्तर बिहार के एसकेएमसीएच, डीएमसीएच व जीएमसी में आरटीपीसीआर व ट्रूनेट मशीन से कोरोना सैंपल की जांच का लक्ष्य नये सिरे से तय किया गया है। इन तीनों मेडिकल कॉलेज में मिलाकर हर दिन 2325 सैंपलों की जांच आरटीपीसीआर व ट्रूनेट मशीन से की जाएगी। इस बारे में स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने संबंधित जिलों के डीएम व सिविल सर्जन को निर्देश जारी किया है।
उन्होंने कहा है कि आईसीएमआर निर्देश के आलोक में लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसे हर दिन पूरा करना है। उत्तर बिहार के इन तीनों मेडिकल कॉलेज में आरटीपीसीआर व ट्रूनेट मशीन से कोरोना सैंपल की जांच होती है। मुजफ्फरपुर स्थित एसकेएमसीएच को हर दिन 1050, दरभंगा स्थित डीएमसीएच को 850 व बेतिया स्थित जीएमसी को 425 सैंपलों की जांच करने का लक्ष्य दिया गया है।

सात जिलों के सैंपलों की होगी जांच
स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देश के अनुसार एसकेएमसीएच, डीएमसीएच व जीएमसी में सात जिलों के कोरोना सैंपल की जांच आरटीपीसीआर मशीन से होगी। एसकेएमसीएच में पूर्वी चंपारण व मुजफ्फरपुर के 300 व सहरसा के 200 सैंपलों की जांच करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। डीएमसीएच में दरभंगा के 250, पूर्णिया के 250 व किशनगंज के 100 सैंपलों की जांच प्रतिदिन होगी। वहीं जीएमसी में पश्चिम चंपारण के 300 सैंपलों की जांच का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वहीं, सचिव के आदेश के अनुसार, एसकेएमसीएच में 250, डीएमसीएच में 250 व जीएमसी में 125 सैंपलों की जांच ट्रूनेट मशीन से की जाएगी।